जी20 का वैश्विक वृद्धि के लिए संकल्प, जताया मुद्राकोष सुधार में विलंब पर अफसोस

  • जी20 का वैश्विक वृद्धि के लिए संकल्प, जताया मुद्राकोष सुधार में विलंब पर अफसोस
You Are HereBusiness Knowledge
Sunday, February 23, 2014-2:21 PM

सिडनी: विश्व की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के मंच जी20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंकों के गवर्नरों पांच साल में सामूहिक आर्थिक वृद्धि दर में 2 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि के लिए काम करने का आज संकल्प किया। मंच ने समूह के प्रमुख सदस्य देश अमेरिका से अपील की कि वह अंतर्राट्रीय मुद्राकोष की कोटा व्यवस्था में सुधारों की दिशा में कदम बढ़ाए। जी20 की दो दिन की बैठक के बाद जारी वक्तव्य में कहा गया है, ‘‘हम अगले पांच साल में ऐसी महत्वाकांक्षी और वास्तविक नीतियां अपनाएंगे ताकि हमरे सामूहिक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर हमारी मौजूदा नीतियों से होने वाली वृद्धि के मुकाबले 2 प्रतिशत ऊंची हो सके।’’

विकसित और विकासशील देशों वाले इस समूह ने कहा कि मुद्राकोष की कोटा प्रणाणी में सुधारों को अभी अमेरिका से मंजूरी नहीं मिली है और इस मामले में वहां चल रहा गतिरोध ‘बेहद अफसोस’ है। मुद्राकोष में सुधार से इस बहुपक्षीय वित्तीय संगठन में भारत समेत उभरती अर्थव्यवस्थाओं के वोट का अधिकार बढेगा। अमेरिकी संसद ने मुद्राकोष में देश का अंशदान बढ़ाने के प्रस्ताव को अभी स्वीकार नहीं किया है।

वर्ष 2010 में कोटा तथा संचालन व्यवस्था में सुधार पर सहमति हो गई थी पर वह अब तक लागू नहीं किया जा सका है। जी20 ने कहा है ‘‘कोटा की 15वीं सामान्य समीक्षा 2014 तक पूरी नहीं हुई। इसको लेकर हमें बेहद अफसोस है।’’ वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि जी20 के आधिकारिक वक्तव्य में भारत की चिंताओं को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘आधिकारिक बयान को संबंधित देशों के अधिकारियों ने मिल बैठकर तैयार किया और मुझे लगता है कि हमारी चिंताओं को इसमें शामिल किया गया है।’’

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You