सहारा मामला: दूसरी कंपनियों पर कार्रवाई कर रहा है सेबी

  • सहारा मामला: दूसरी कंपनियों पर कार्रवाई कर रहा है सेबी
You Are HereBusiness
Monday, February 24, 2014-1:22 AM

नई दिल्ली: सहारा समूह से निवेशकों को 20,000 करोड़ रुपए से अधिक वापस दिलाने के लिए प्रतिभूति बाजार नियामक सेबी की कानूनी लड़ाई अभी भले ही जारी हो पर इस मामले में उच्चतम न्यायालय के आदेश का हवाला देकर बाजार नियामक ने निवेशकों के साथ धोखाधड़ी के कई अन्य मामलों में कार्रवाई शुरू की है।

सहारा मामले में उच्चतम न्यायालय के आदेश का हवाला देते हुए सेबी ने कम से कम 5 कंपनियों और 21 व्यक्तियों के खिलाफ आदेश पारित किए हैं। इन पर गलत ढंग से ओ.एफ.सी.डी. (पूर्णरूप से शेयरों में परिवर्तनीय विकल्प वाले बांड), आर.पी.एस. (भुनाने योग्य प्रैफरैंशियल शेयर), सी.पी.एस. (शेयरों में परिवर्तनीय प्रैफरैंशियल शेयर) व कला कोष जैसी योजनाओं के बांड जारी कर हजारों करोड़ रुपए एकत्र करने का आरोप है।

उच्चतम न्यायालय ने सहारा मामले में 31 अगस्त, 2012 को एक आदेश पारित कर सहारा समूह की 2 कंपनियों को 24,000 करोड़ रुपए से अधिक राशि निवेशकों को रिफंड करने को कहा था। यह रकम करीब 3 करोड़ व्यक्तियों को बांड जारी कर जुटाई गई थी। हाल ही में सेबी ने विबग्योर एलायड इन्फ्रास्ट्रक्चर के खिलाफ आदेश पारित किया है। इससे पहले उसने प्रयाग इन्फोटैक हाई-राइज और 4 व्यक्तियों के खिलाफ आदेश पारित किए थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You