वैश्विक अर्थव्यवस्था को गति देने के प्रयास अहम: भारत

  • वैश्विक अर्थव्यवस्था को गति देने के प्रयास अहम: भारत
You Are HereBusiness
Monday, February 24, 2014-6:54 AM

सिडनी:  भारत ने दुनिया के विकसित और विकाशसील देशों के समूह जी-20 की बैठक में वैश्विक अर्थव्यवस्था को गति देने, अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष में उभरती अर्थव्यवस्थाओं को ज्यादा प्रतिनिधित्व देने तथा अमरीकी फैड रिजर्व के प्रोत्साहन पैकेज कटौती के प्रभावों से निपटने की तैयारियों पर संतोष व्यक्त किया है।

बैठक में वित्त मंत्री पी. चिदम्बरम ने कहा कि जी-20 के सदस्य देशों ने अगले 5 वर्षों में विकास दर में 2 प्रतिशत की वृद्धि के लिए सामूहिक स्तर पर प्रयास करने की जो प्रतिबद्धता जाहिर की है वह निश्चित रूप से काफी महत्वपूर्ण है। चिदम्बरम ने कहा कि भारत के लिए चिंता का विषय रहे अमरीकी फैड रिजर्व के प्रोत्साहन पैकेज में कटौती और अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष (आई.एम.एफ.) के कोटा प्रणाली में सुधार जैसे विषयों पर बैठक में गंभीरता से चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि बैठक में शामिल प्रतिनिधियों की देख-रेख में तैयार घोषणा पत्र में भी भारत की ओर से उठाए गए मुद्दों को प्रमुखता दी गई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You