‘प्रतिस्पर्धा से मोबाइल कॉल दरों में बढ़ोतरी पर लगेगी लगाम’

  • ‘प्रतिस्पर्धा से मोबाइल कॉल दरों में बढ़ोतरी पर लगेगी लगाम’
You Are HereBusiness
Wednesday, February 26, 2014-3:19 PM

बार्सलोना: दूरसंचार विभाग ने उम्मीद जताई कि हाल ही में हुई स्पेक्ट्रम नीलामी से मोबाइल की कॉल दरें निकट भविष्य में नहीं बढ़ेंगी क्योंकि प्रतिस्पर्धा से परिचालकों द्वारा शुल्क बढ़ाने की प्रवृत्ति पर लगाम लगेगी। दूरसंचार सचिव एम एफ फारूकी ने मोबाइल विश्व सम्मेलन में कहा, ‘‘नीति निर्माता के तौर पर मुझे लगता है कि दरों पर लगाम रहनी चाहिए। मैं परिचालक नहीं हूं और न ही नियामक लेकिन मैं कह रहा हूं कि यहां दो चीजें हैं और ये दोनों मिलकर शुल्क में किसी तरह की बढ़ोतरी पर लगाम लगाने में भूमिका अदा करेगी।’’

उन्होंने कहा कि एक ओर प्रतिस्पर्धा कंपनियों को शुल्क बढ़ाने से रोकेगी और दूसरी ओर नई प्रौद्योगिकी से उन्हें लागत कम करने और ज्यादा किस्म की सेवाएं प्रदान करने मे मदद मिलेगी। उन्होंने कहा ‘‘एक चीज है प्रतिस्पर्धा। प्रतिस्पर्धा किसी भी कंपनी कुछ भी ऐसा करने से रोकेगी जिससे उसकी बाजार हिस्सेदारी घटाने वाली है। इसलिए मुझे लगता है कि यह कीमत पर लगाम लगाने की दिशा में बड़ा अवरोधक होगा। दूसरी चीज प्रौद्योगिकी है।’’

भारती एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया सेल्यूलर जैसी देश की तीन सबसे बड़ी कंपनियों समेत आठ दूरसंचार कंपनियों ने इस महीने हुई स्पेक्ट्रम नीलामी में 61,162 करोड़ रुपए की बोलियां लगाईं। सरकार ने नीलामी में 1800 मेगाहर्ट्ज और 900 मेगाहर्ट्ज बैंड के स्पेक्ट्रम की पेशकश की थी। दूरसंचार कंपनियां मुनाफे में बने रहने के लिए मुफ्त सेवाएं और रियायती कॉल दर सुविधाएं खत्म कर रही हैं। कंपनियों का कहना है कि मोबाइल उद्योग को अपने आपको मजबूत रखने के लिए दरों में हर साल शुल्क बढ़ाने की जरूरत है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You