गूगल पर लग सकता है 30,500 करोड़ रुपए का जुर्माना

  • गूगल पर लग सकता है 30,500 करोड़ रुपए का जुर्माना
You Are HereBusiness
Tuesday, March 11, 2014-1:27 PM

नई दिल्ली: भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) की जांच के दायरे में आए इंटरनेट दिग्गज और सर्च इंजन गूगल पर भारी भरकम जुर्माना लग सकता है। सीसीआई ने गूगल पर आरोप लगाया है कि कंपनी अपनी बेहतर स्थिति का फायदा उठाकर देश में प्रतिस्पर्धा नहीं होने दे रही है। इस सेवा पर उसने अपना एकाधिकार बना लिया है।

इस आरोप की पुष्टि होने पर गूगल को लगभग 30,500 करोड़ रुपए का जुर्माना भुगतना पड़ सकता है। गूगल का कहना है कि वह सीसीआई को इस जांच में पूर्ण सहयोग दे रही है। इसके लिए उसने अमेरिकी ऐंटी ट्रस्ट संस्था की भी जांच का हवाला दिया है जिसने दो साल जांच करने के बाद कहा कि गूगल की सेवाएं कंपीटिशन के लिए सही हैं।

सीसीआई के नियमों के मुताबिक किसी भी संस्था को जो उनका उल्लंघन करती है, उसके तीन साल के कुल कारोबार के 10 प्रतिशत तक देना होगा। गूगल के मामले में यह रकम बहुत ज्यादा है क्योंकि गूगल का पिछले तीन सालों में कुल कारोबार 49.1 अरब डॉलर (3.01 लाख रुपए) है। इस पर अधिकतम जुर्माना 5 अरब डॉलर बनता है।

गूगल के एक प्रवक्ता ने इस पर कहा कि हम सीसीआई को पूरा सहयोग कर रहे हैं। इस मामले में समस्या यह है कि सीसीआई के पास की गई कोई भी शिकायत वापस नहीं ली जा सकती। जांच को पूरा होना ही होगा।

शुरुआती जांच में उल्लंघन की पुष्टि के बाद सीसीआई ने यह मामला अपनी जांच इकाई महानिदेशक को विस्तृत जांच के लिए भेज दिया है। महानिदेशक से इस बारे में संपर्क नहीं हो पाया। जुर्माना लगाने के अलावा सीसीआई कंपनी को अपना व्यवहार सुधारने के लिए भी आदेश जारी कर सकता है। इसके अलावा नियामक ढांचागत सुधार भी कर सकता है जिसके तहत प्रभुत्व वाली इकाई को अलग-अलग कारोबार में बांटा जा सकता है।

गूगल के खिलाफ शिकायत 2011 के अंत में ऐडवोकेसी समूह कट्स इंटरनैशनल ने दायर की थी। बाद में शादी-ब्याह कराने वाली वेबसाइट मैट्रिमनी.कॉम ने भी उसके खिलाफ शिकायत दायर की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You