नया कंपनी कानून एक आदर्श : वोल्टर्स क्लूवर

  • नया कंपनी कानून एक आदर्श : वोल्टर्स क्लूवर
You Are HereBusiness
Thursday, March 20, 2014-9:22 PM

मुंबई: नया कंपनी कानून सिर्फ मौजूदा कॉर्पोरेट मुद्दों का समाधान ही नहीं देता, बल्कि यह एक आदर्श कानून है, जिसका अनुकरण कई देश कर सकते हैं। यह बात इस क्षेत्र के एक विशेषज्ञ ने कही। कराधान, लेखांकन और वैधानिक मुद्दे पर प्रमुख स्रोत और सूचना तथा विशेषज्ञता युक्त परामर्श देने वाली कंपनी वोल्टर्स क्लूवर के प्रबंध निदेशक थॉमस अब्राहम ने कहा, ‘‘2013 में बना यह कानून कारपोरेट नियामकीय व्यवस्था को अधिक प्रासंगिक बनाने का एक अवसर प्रदान करता है।’’

नए कानून पर विचारार्थ आयोजित एक सम्मेलन में अब्राहम ने कहा, ‘‘यह देश के कॉर्पोरेट नियामकीय ढांचे को आदर्श बना सकता है, जिसका अनुकरण समान प्रकृति वाले देश कर सकते हैं।’’ उन्होंने कहा कि नए कानून में आधुनिकतम चलन को कंपनी स्थापना, आम लोगों से धन जुटाना, दोस्ताना नियम, ई-प्रशासन पहल का दोहन और कारपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी जैसे विषय पर खास सुविधाओं के साथ मिलाया गया है।

उन्होंने कहा कि नए कानून में जवादेही बढ़ाने के साथ-साथ स्वनियमन पर अधिकाधिक ध्यान दिया गया है। दिनभर के सम्मेलन में कॉर्पोरेट प्रशासन, सामाजिक जवाबदेही, विलय और अधिग्रहण, साझेदार की भूमिका, लेखांकन मानक, वैधानिक ढांचा, नियमन और शिकायत निपटारा पर सत्र आयोजित किए गए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You