सपने में भी नहीं सोचा था माइक्रोसॉफ्ट का सीईओ बनूंगा: नडेला

  • सपने में भी नहीं सोचा था माइक्रोसॉफ्ट का सीईओ बनूंगा: नडेला
You Are HereBusiness
Friday, March 21, 2014-12:23 PM

बेंगलूर: माइक्रोसॉफ्ट के नवनियुक्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी, सत्या नडेला ने कहा कि उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि वह 78 अरब डॉलर की वैश्विक सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट की जिम्मेदारी संभालेंगे। माइक्रोसॉफ्ट विंडोज से संबंधित एक सम्मेलन के दौरान भारत में जन्में नडेला ने कहा, ‘‘मेरा लालन-पालन भारत में हुआ और मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ के रूप में मुझे आप सभी से बात करने का मौका मिलेगा।’’

डेवलपर्स, व्यापार और प्रौद्योगिकी के बारे में निर्णय लेने वाले तथा आईटी पेशेवरों को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘सही मायने में मेरी रूचि उस समय प्रौद्योगिकी से ज्यादा क्रिकेट में थी।’’ इस साल फरवरी में नडेला माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ बने। उन्होंने स्टीव बालमर का स्थान लिया। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि एज्योर क्लाउड प्लेटफार्म शानदार है और इसके साथ भारत के लिए काफी मौके हैं।’’

विंडोज एज्योर खुला और लचीला क्लाउड प्लेटफार्म है। यह माइक्रोसॉफ्ट प्रबंधित डेटा केंद्रों के वैश्विक नटवेर्क के एप्लीकेशन तैनात करने तथा उसके प्रबंधन में सक्षम है। माइक्रोसॉफ्ट के 38 साल के इतिहास में बिल गेट्स, स्टीव बालमर के बाद नडेला तीसरे सीईओ हैं।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You