बिना दावे वाली राशि का इस्तेमाल जमाकर्ताओं की शिक्षा पर होगा: RBI

  • बिना दावे वाली राशि का इस्तेमाल जमाकर्ताओं की शिक्षा पर होगा: RBI
You Are HereBusiness
Saturday, March 22, 2014-2:58 PM

मुंबई: भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि बैंकों में पड़ी बिना दावे वाली राशि का इस्तेमाल जमाकर्ताओं की शिक्षा व जागरूकता पर किया जाएगा। इस तरह की राशि अनुमानत: 3,500 करोड़ रुपए है। रिजर्व बैंक ने कहा है कि ‘जमाकर्ता शिक्षा व जागरूकता कोष योजना 2014’ को अंतिम रूप दे दिया गया है और इसे सरकार को भेजा गया है जिससे इसे आधिकारिक गजट में अधिसूचित किया जा सके। इस कोष में वहीं जमा राशि डाली जाएगी जिनमें बैंक खातों को पिछले दस साल से इस्तेमाल नहीं किया गया है या फिर कोई ऐसी राशि जिस पर पिछले दस साल से कोई दावा नहीं किया गया है।

इन जमा खातों में बचत बैंक खाता, मियादी जमा खाता, आवर्ती जमा तथा चालू खाता शामिल है। साथ ही इसमें वह भुगतान भी शामिल होगा जो किसी लेनदेन में विदेशी मुद्रा में दिया गया है और जिस पर दस साल या अधिक से कोई दावा नहीं किया गया है। एक अनुमान के अनुसार बैंकों के पास बिना दावे वाली जमा राशि 3,652 करोड़ रुपए है। अकेले भारतीय रिजर्व बैंक के पास ही इसमें से 15 फीसद जमा राशि है। रिजर्व बैंक ने कहा है कि यदि कोष में कोई राशि स्थानांतरित कर दी जाती है और उसके बाद ग्राहक इसके लिए दावा करता है, तो बैंक उसे ब्याज के साथ यह राशि अदा करेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You