अलर्ट: तुरंत बदलें अपना ATM पिन!

  • अलर्ट: तुरंत बदलें अपना ATM पिन!
You Are HereBusiness
Saturday, October 22, 2016-5:54 PM

नई दिल्लीः देश के सबसे बड़ी वित्तीय जानकारियों की चोरी में एक दो नहीं बल्कि 19 बैंकों के एटीएम डेबिट कार्ड की जानकारियां लीक होने की आशंका है। एेसे में बैंकों और नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) की ओर से सुझाव दिया जा रहा है कि ग्राहकों सबसे पहले अपने एटीएम का पिन तुरंत बदलें। 

ग्राहकों की शिकायत पर की जांच
नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के एमडी व सीईओ एपी होता के अनुसार,  समस्या का पता ग्राहकों की शिकायतें आने पर लगा। कार्ड धारकों ने बताया कि चीन और अमरीका में उनके कार्ड से फ्रॉड करके खरीदारी की जा रही है, जबकि वे भारत में ही थे। इसे डाटा चोरी का मामला मानते हुए एनपीसीआई ने सभी एटीएम टर्मिनलों और देश में ऑनलाइन पेमेंट का काम कर रहे तीन कार्ड नेटवर्कों, रूपे, वीजा और मास्टर कार्ड के साथ सितंबर में जांच शुरू की। 

करीब 32 लाख कार्ड का डाटा चोरी
इसमें सामने आया कि पिछले कुछ महीनों (सूत्रों के अनुसार अप्रैल से सितंबर) के दौरान डाटा चोरी हुआ। आशंका है कि इसे पेमेंट गेट-वे से चोरी किया गया। चोरी किए गए डाटा में से 19 बैंकों के 641 बैंक खातों के डाटा का उपयोग करते हुए चीन और अमरीका में 1.30 करोड़ रुपए के पेमेंट के मामले रिपोर्ट किए जा चुके हैं। एनपीसीआई को आशंका है कि 32 लाख कार्ड का डाटा चोरी हुआ है, जबकि इसके 65 लाख तक होने की अाशंका जताई जा रही है।

जांच के बाद सच अाएगा सामने
फॉरेंसिक ऑडिट में अब तक सामने आया है कि एक खास बैंक (सूत्रों के अनुसार यस बैंक) से ट्रांजेक्शंस के दौरान अपनाए जा रहे पेमेंट गेटवे पर यह डाटा चोरी हुआ।  फिलहाल मामले की जांच जारी है। एनपीसीआई के सूत्रों के अनुसार इसके बाद ही अधिकृत रूप से बताया जाएगा कि कौन से बैंक और पेमेंट गेटवे से डाटा चोरी हुआ।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You