अब पैट्रोल पंपों पर भी नहीं मिल रहा लोगों को कैश

  • अब पैट्रोल पंपों पर भी नहीं मिल रहा लोगों को कैश
You Are HereEconomy
Tuesday, November 22, 2016-11:36 AM

नई दिल्लीः पैट्रोल पंप पर प्वाइंट ऑफ सेल (पी.ओ.एस.) मशीन के जरिए दो हजार रुपए मिलने की घोषणा बेअसर साबित हो रही है। दो दिन पहले केंद्र सरकार ने यह घोषणा की थी कि बैंकों व एटीएम काउंटरों में लंबी कतारों में लगने की बजाय एटीएम धारक पास के पैट्रोल पंप में डेबिट व क्रेडिट कार्ड के जरिए दिन भर में 2000 रुपए तक का स्वाइप कर सकते हैं। इसके लिए बैंकों की अोर से पैट्रोल पंप प्रबंधन को बड़े नोटों की जगह खुदरा (चेंज) रुपए मुहैया कराए जाएंगे। लेकिन घोषणा के तीन दिन बाद भी लोगों को इस सुविधा का लाभ नहीं मिल रहा है।

कैश सुविधा चल रही है कछुआ चाल
पैट्रोल पंप पर कैश सुविधा कछुआ चाल से चल रही है। लोग एटीएम कार्ड लेकर ऐसे पैट्रोल पंप ढूंढ़ रहे हैं, लेकिन कहीं भी उन्हें राहत नहीं मिल रही है। वहीं, पैट्रोल पंप संचालकों का कहना है कि हमारे पास खुले पैसे नहीं आ रहे हैं। लोग पांच सौ और हजार के नोट लेकर ही पैट्रोल भरवाने पहुंच रहे हैं।

पैट्रोल पंपों पर नही हैं खुले पैसे
पैट्रोल पंपों पर पैट्रोल और डीजल भरवाने वालों को भी खुले पैसे नहीं मिल पा रहे हैं। उन्हें पांच सौ और हजार के पुराने नोट के बदले पूरी रकम का पैट्रोल या डीजल भरवाना पड़ता है। बता दें कि देशभर में 2500 पैट्रोल पंपों पर यह सुविधा शुरू की गई थी। जिन पैट्रोल पंपों के पास एस.बी.आई. की स्वैपिंग मशीन है, वे ग्राहकों को दो हजार रुपए खुले दे सकते हैं। कई पैट्रोल पंपों के पास मशीन है, लेकिन इसका प्रयोग सिर्फ कार्ड से भुगतान के लिए किया जा रहा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You