ग्लोबल इकनॉमी में चीन का बढ़ता दबदबा, 5 साल में 30% हिस्सेदारी संभव

  • ग्लोबल इकनॉमी में चीन का बढ़ता दबदबा, 5 साल में 30% हिस्सेदारी संभव
You Are HereEconomy
Monday, October 31, 2016-4:11 PM

चीनः चीन में जारी सुस्ती के बावजूद ग्लोबल मार्केट में चीन की हिस्सेदारी लगातार बढ़ने के आसार हैं। चीन इंस्टीट्यूट फॉर रिफॉर्म एंड डेवलपमेंट के डायरेक्टर शी फ्यूलिन के एक मीडिया हाउस को दिए बयान के मुताबिक अगले 5 साल में चीन की ग्लोबल इकनॉमी में हिस्सेदारी 30 फीसदी तक रह सकती है।

फ्यूलिन के मुताबिक आने वाले समय में चीन की इकनॉमी में आने वाले बदलावों से ग्लोबल ग्रोथ में काफी असर पड़ेगा। हालांकि फ्यूलिन ने आशंका जताई है कि अगले कुछ सालों में ग्लोबल इकनॉमी में सुस्ती जारी रहेगी, और इससे चीन की इकनॉमी में अहम बदलाव देखने को मिल सकते हैं। वहीं उन्होंने कहा कि दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी इकनॉमी होने की वजह से चीन इकनॉमी में आए बदलाव और ग्रोथ ग्लोबल इकनॉमी को दिशा देते रहेंगे। फ्यूलिन ने संभावना जताई कि आने वाले समय में चीन का इकनॉमी में हिस्सा 25 से 30 फीसदी तक बना रहेगा। 

चीन के अधिकारी के इस बयान पर कई विदेशी इकनॉमिस्ट ने सवाल उठाया है। फोर्ब्स मैगजीन में छपे एक आर्टिकल के मुताबिक इस बयान का मतलब ये है कि है कि ग्लोबल ग्रोथ में चीन की हिस्सेदारी 30 फीसदी हो सकती है। न कि ग्लोबल इकनॉमी में चीन का हिस्सा 30 फीसदी होगा। फोर्ब्स के आर्टिकल के मुताबिक ग्लोबल इकनॉमी में चीन का हिस्सा 15 फीसदी तक हो सकता है। वहीं चीन के मुकाबले भारत की ग्रोथ ज्यादा तेज होगी, हालांकि चीन के मुकाबले भारतीय इकनॉमी का बेस छोटा रहेगा। हालांकि सभी एक्सपर्ट मान रहे हैं कि ग्लोबल मार्केट में चीन की मौजूदा पोजीशन और मजबूत होगी।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You