चीनी माल के बहिष्कार अभियान से भी लगी कारोबार को चपत

  • चीनी माल के बहिष्कार अभियान से भी लगी कारोबार को चपत
You Are Herecompany
Tuesday, November 01, 2016-12:06 PM

नई दिल्लीः दिल्ली को दीवाली से संबंधित सामान के कारोबार का अहम वितरण केंद्र माना जाता है लेकिन इस बार दीवाली कारोबारियों के लिए फीकी रही। दिल्ली के कारोबारियों के मुताबिक पिछली दीवाली के मुकाबले इस बार बिक्री 30 से 40 फीसदी घटने का अनुमान हैं। चीनी सामान के बहिष्कार, दीवाली महीने के अंत में होने और बाजार में विस्फोट आदि का भी कारोबार पर नकारात्मक असर देखा गया।

भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के महामंत्री विजय प्रकाश जैन ने बताया कि अभी भी आर्थिक हालात इतने अधिक नहीं सुधरे हैं कि लोग दीवाली पर दिल खोलकर खर्च कर सकें। ऐसे में पिछली दीवाली के मुकाबले इस दीवाली दिल्ली के कारोबार में 35 फीसदी कमी आने के आसार हैं। चांदनी चौक सर्वव्यापार मंडल के महासचिव संजय भार्गव कहते हैं कि दीवाली से पहले वाले सप्ताह में ग्राहक बाजार में आने से भी कारोबार जोर पकड़ता हैं लेकिन इस सप्ताह नया बाजार में विस्फोट का असर इस बार ग्राहकों की संख्या पर पड़ा। दीवाली महीने के अंत में होने से भी ग्राहकों की जेब तंग थी। लिहाजा दीवाली पर कारोबार 40 फीसदी घटने का अनुमान है।

चीनी सामान बहिष्कार अभियान से भी दिल्ली के कारोबारियों को बड़ी चपत लगी। जैन कहते हैं कि दिल्ली चीनी सामान का बड़ा वितरण केंद्र है। चीनी सामान बहिष्कार अभियान से इन सामान की बिक्री 40-50 फीसदी घटने की संभावना है। भागीरथ प्लेस के कारोबारी राकेश सैनी ने कहा कि इस साल दीवाली पर उपयोग होने वाले चीन के लाइटिंग उत्पादों की बिक्री कम से कम 40 फीसदी कम हुई। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ने देश के 20 प्रमुख शहरों में पिछले साल के मुकाबले दीवाली पर चीनी सामान की बिक्री में 60 फीसदी गिरावट का अनुमान लगाया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You