Subscribe Now!

महंगे टमाटर से बढ़ी टोमैटो प्यूरी और कैचअप की मांग

  • महंगे टमाटर से बढ़ी टोमैटो प्यूरी और कैचअप की मांग
You Are HereBusiness
Saturday, July 29, 2017-8:39 AM

नई दिल्लीः देश के बड़े शहरों में टमाटर का भाव ऊंचा बना हुआ है और वह करीब 80-100 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से बिक रहा है। टमाटर की कीमतों में आए अप्रत्याशित उछाल के कारण टोमैटो प्यूरी और टोमैटो कैचअप की मांग पिछले कुछ सप्ताह के दौरान 40 से 45 प्रतिशत बढ़ौत्तरी हुई है। उद्योग संगठन एसोचैम की रिपोर्ट के अनुसार अधिकतर भारतीय व्यंजनों में जरूरी माने जाने वाले टमाटर की आसमान छूती कीमत के कारण लोगों ने टोमैटो प्यूरी और टोमैटो कैचअप को विकल्प के रूप में देखते हुए इसकी खरीद शुरू कर दी है।

टोमैटो प्यूरी और टोमैटो कैचअप की बढ़ती मांग को देखते हुए दुकानदारों ने इसका भंडार बढ़ा दिया है। अधिकतर शाकाहारी और मांसाहारी व्यंजनों में बड़ी मात्रा में टमाटर डाले जाते हैं। अध्ययन के मुताबिक अधिकतर लोगों ने बताया कि उन्होंने टमाटर का इस्तेमाल बहुत कम कर दिया है और वे वैसे ही व्यंजन बना रहे हैं जिनमें टमाटर की जरूरत न हो जैसेभिंडी और कद्दू। कुछ लोग टमाटर की जगह कच्चे आम का इस्तेमाल भी कर रहे हैं।

बारिश की वजह से फसल बर्बाद होने के कारण पिछले कुछ सप्ताह के दौरान टमाटर के दाम बड़ी तेजी से बढ़े हैं। टमाटर की पैदावार वाले कुछ इलाकों में बाढ़ और कुछ में हुई कम बारिश के कारण इसकी फसल बहुत प्रभावित हुई है। दिल्ली-एन.सी.आर., मुम्बई, लखनऊ, कोलकाता, चेन्नई, अहमदाबाद और हैदराबाद की मंडियों में कारोबारियों से की गई बातचीत से यह पता चलता है कि आने वाले कुछ समय तक टमाटर की कीमतों में कमी आने की कोई उम्मीद नहीं है।

कम बारिश के कारण फसल को नुक्सान
रिपोर्ट के अनुसार महाराष्ट्र तथा अन्य राज्यों में जहां टमाटर की पैदावार होती है, वहां कम बारिश के कारण फसल को बहुत नुक्सान हुआ है। टमाटर की पैदावार प्रभावित होने का सबसे अधिक असर दिल्ली-एन.सी.आर. और मुम्बई में दिखा है। इसके अलावा टमाटर बहुत ही जल्द खराब हो जाते हैं और इनके संरक्षण के लिए कोल्ड स्टोरेज तथा एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए रैफ्रिजरेटिड वाहनों की आवश्यकता होती है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You