Subscribe Now!

जेब पर बढ़ेगा बोझ, पैट्रोल से भी महंगा हो सकता है डीजल

  • जेब पर बढ़ेगा बोझ, पैट्रोल से भी महंगा हो सकता है डीजल
You Are HereBusiness
Thursday, January 18, 2018-2:21 PM

नई दिल्लीः देश में पैट्रोल के दाम करीब साढ़े तीन साल के उच्च्तम स्तर पर पहुंच चुके हैं जबकि डीजल हर दिन सर्वकालिक उच्च स्तर का नया रिकॉर्ड बना रहा है। लेकिन, डीजल की महंगाई पैट्रोल से कहीं ज्यादा तेजी से बढ़ रही है और यदि यह क्रम जारी रहा तो हो सकता है कि देश में डीजल पैट्रोल से महंगा बिकने लगे।

पैट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ौतरी
पैट्रोल और डीजल की कीमतें रोजना तय करने की व्यवस्था पिछले साल 16 जून से लागू की गई थी। तब से अब तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पैट्रोल के दाम 9.29 प्रतिशत और डीजल के 14.24 प्रतिशत बढ़े हैं। देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, 16 जून 2017 को दिल्ली में पैट्रोल 65.48 रुपए प्रति लीटर था जो 18 जनवरी 2018 को 71.56 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया। यह अगस्त 2014 के बाद का इसका उच्चतम स्तर है। डीजल की कीमत पिछले साल 16 जून को 54.49 रुपए प्रति लीटर थी जो इस गुरुवार को 62.25 रुपए प्रति लीटर हो गई है। इस साल के आंकड़े ही देखें तो जनवरी के पहले 18 दिन में पैट्रोल के दाम 1.59 रुपए बढ़े है जबकि डीजल 2.61 रुपए प्रति लीटर महंगा हो चुका है।

उत्पाद शुल्क में की थी कटौती
अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने से पैट्रोल और डीजल के बीच महंगाई की होड़ लग गई है। अगस्त 2014 के बाद अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट शुरू हो गई थी। इससे पैट्रोल-डीजल की कीमतें घटनी शुरू हो गईं। इसका फायदा उठाते हुए उस समय सरकार ने यह कहकर इन पर उत्पाद शुल्क बढ़ाया था कि जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमतें बढ़ेंगी तो शुल्क में कमी भी की जा सकती है। पिछले साल पैट्रोल की कीमत 70 रुपये के पार निकलने की खबर मीडिया में आने के बाद बने दबाव में 03 अक्टूबर 2017 को केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल के उत्पाद शुल्क में दो-दो रुपए प्रति लीटर की कटौती की थी। इस समय पैट्रोल पर उत्पाद शुल्क 15.33 रुपए और डीजल पर 19.48 रुपएप्रति लीटर है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You