GST परिषद में होगी दो अहम मुद्दों पर चर्चा: जेतली

  • GST परिषद में होगी दो अहम मुद्दों पर चर्चा: जेतली
You Are HereBusiness
Wednesday, October 26, 2016-7:16 PM

नई दिल्लीः वित्त मंत्री अरुण जेतली ने आज कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जी.एस.टी.) परिषद की दीपावली बाद होने वाली 2 बैठकों में जी.एस.टी. दर और राज्यों के राजस्व नुकसान की भरपाई के लिए तंबाकू उत्पादों और विलासिता की वस्तुओं पर अधिभार लगाने जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर निर्णय लिए जाने हैं।

जेतली ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि अब तक जी.एस.टी. परिषद की 3 बैठकें हो चुकी है और दीपावली के बाद 2 बैठकें होने वाली हैं जिनमें 2 महत्वपूर्ण मुद्दों पर निर्णय होंगे। उन्होंने कहा कि परिषद ने सभी राज्यों के राजस्व में वार्षिक 14 फीसदी सेकुलर वृद्धि दर तय की है और जिन राज्यों को नुकसान होगा उनको इसी के आधार पर भरपाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस भरपाई के लिए तंबाकू उत्पादों और विलासिता की वस्तुओं पर अधिभार लगाने का प्रस्ताव किया गया है जिस पर परिषद को निर्णय लेना है। हालांकि उन्होंने कहा कि नुकसान की भरपाई के लिए अतिरिक्त कर लगाना वहन योग्य नहीं होता है। 

दीपावली के बाद 3 और 4 नवंबर को परिषद की प्रस्तावित बैठक का उल्लेख करते हुए उन्होंने लिखा है कि जी.एस.टी. दर के लिए 4 स्लैब पर विचार किया जा रहा है जिनमें 6 फीसदी, 12, 18 और 26 फीसदी दरें शामिल हैं। आवश्यक वस्तुओं पर कम कर लगाने तथा विलासिता की वस्तुओं को उच्च कर दर में रखने का प्रस्ताव किया गया है। उन्होंने कहा कि समाज के अलग-अलग वर्ग द्वारा उपयोग किए जाने वाली वस्तुओं पर अलग-अलग कर की दर होना चाहिए अन्यथा जी.एस.टी. बहुत कठिन हो जाएगा। एयरकंडिशनर और हवाई चप्पल पर एक समान कर नहीं लगाया जा सकता है। कुल कर संग्रह राजस्व निरपेक्ष होना चाहिए। सरकार को आवश्यक व्यय के लिए राजस्व का नुकसान नहीं होना और न ही उसे अनाश्वयक लाभ होना चाहिए। 
 


 
 


वीडियो देखने के लिए क्लिक करें
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You