‘डिजिटल इंडिया’ होगी व्यापार मेले की मुख्य विषय वस्तु

  • ‘डिजिटल इंडिया’ होगी व्यापार मेले की मुख्य विषय वस्तु
You Are HereEconomy
Friday, November 04, 2016-4:43 PM

नई दिल्ली: प्रगति मैदान में 14 नवंबर से शुरू होने वाले 36वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले (आई.आई.टी.एफ.) की मुख्य विषय वस्तु इस बार ‘डिजिटल इंडिया’ होगी। केन्द्र सरकार का इलैक्ट्रोनिक्स विभाग इस अभियान को आगे बढ़ा रहा है।

नरेन्द्र मोदी सरकार के प्रमुख अभियानों में ‘डिजिटल इंडिया’ भी एक है। व्यापार मेले  में सभी राज्य मंडपों और दूसरे मंडपों में ‘डिजिटल इंडिया’ के तहत चलाए जा रहे कार्यक्रमों को प्रमुखता से दिखाया जाएगा।

आई.आई.टी.एफ. का आयोजन करने वाले वाणिज्य मंत्रालय के उपक्रम भारत व्यापार संवर्धन संगठन (इटपो) के महा प्रबंधक जे.गुना शेकरन ने यह जानकारी दी। प्रगति मैदान में हर साल 14 से 27 नवंबर तक आई.आई.टी.एफ. का आयोजन किया जाता है।

शेकरन ने कहा कि हर साल की तरह इस बार भी सभी राज्य मेले में भाग लेंगे। 24 राज्य मंडप होंगे और केन्द्र शासित प्रदेशों सहित कुल 31 मंडप होंगे। केन्द्र सरकार  के विभाग भी विभिन्न मंडपों में अपनी गतिविधियों के साथ उपस्थित होंगे। उन्होंने कहा कि कुछ मंडप भवन दूसरे स्थानों पर लगेंगे लेकिन सभी राज्य भागीदारी करेंगे हरियाणा पेवेलियन को तोड़ दिया गया है। यह अब दूसरे स्थान पर लगेगा। इसी प्रकार रक्षा मंत्रालय का पवेलियन भी अब वहां नहीं है।

डिजिटल इंडिया के लिए भारत सरकार ने ‘डिजिटल साक्षरता अभियान - दिशा’  की शुरूआत की है। देश में डिजिटल साक्षरता बढ़ाने के लिए 21 जुलाई 2014 को इस अभियान की शुरूआत की गई। इसके तहत इलैक्ट्रोनिक हस्ताक्षर सुविधा के साथ डिजिटल लॉकर ‘डिजि-लॉकर’ जुलाई 2015 में शुरू की गई। इसके तहत विभिन्न संगठन और व्यक्तिगत स्तर पर अपने सभी कानूनी दस्तावेजों को सुरक्षित रख सकेंगे। इसके अलावा 30 मई 2016 को डिजिटल रथ की शुरूआत की गई। इसमें देश के 657 जिलों में दूरदराज इलाकों में डिजिटल इंडिया के बारे में जानकारी दी जा रही है। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You