डायरेक्ट टैक्स संग्रह सितंबर तक 9% बढ़ा

  • डायरेक्ट टैक्स संग्रह सितंबर तक 9% बढ़ा
You Are HereEconomy
Wednesday, October 12, 2016-11:07 AM

नई दिल्ली: प्रत्यक्ष कर (डायरेक्ट टैक्स) संग्रह चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में 9% बढ़कर 3.27 लाख करोड़ रुपए रहा। मुख्य रूप से व्यक्तिगत आयकर संग्रह बढ़ने से प्रत्यक्ष कर संग्रह बढ़ा। अप्रैल-सितंबर के दौरान प्रत्यक्ष कर संग्रह से पता चलता है कि 2016-17 के लिए प्रत्यक्ष कर के बारे में बजटीय अनुमान का 38.65% हिस्सा प्राप्त कर लिया गया है। प्रत्यक्ष कर में कंपनी तथा व्यक्तिगत आयकर शामिल हैं।

सी.बी.डी.टी. के बयान के अनुसार आंकड़ा बताता है कि शुद्ध संग्रह 3.27 लाख करोड़ रुपए रहा जो पिछले साल की इसी तिमाही के मुकाबले 8.95% अधिक है। कंपनी आयकर (सी.आई.टी.) संग्रह 9.54% बढ़ा जबकि व्यक्तिगत आयकर में 16.85% की वृद्धि हुई है। हालांकि रिफंड को समायोजित करने के बाद सी.आई.टी. में शुद्ध वृद्धि 2.56% जबकि व्यक्तिगत आयकर में 18.60% की बढ़ौतरी हुई।

चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-सितंबर के दौरान 86,491 करोड़ रुपए रिफंड किए गए जो पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले 26.99 प्रतिशत अधिक है। सितंबर 2016 तक अग्रिम कर संग्रह 1.58 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया जो 12.12 प्रतिशत वृद्धि को बताता है। कंपनी अग्रिम कर में 8.14% की वृद्धि हुई जबकि व्यक्तिगत आयकर संग्रह में 44.5% की वृद्धि हुई। सरकार ने प्रत्यक्ष कर संग्रह चालू वित्त वर्ष में 12.64% बढ़कर 8.47 लाख करोड़ रुपए रहने का अनुमान रखा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You