इस बार दशहरे पर फीकी रही स्वर्ण बिक्री की चमक

  • इस बार दशहरे पर फीकी रही स्वर्ण बिक्री की चमक
You Are Herecommodity
Wednesday, October 12, 2016-2:41 PM

मुंबईः दशहरे के पर्व पर महाराष्ट्र में सोना खरीदने की परंपरा रही है इसी परंपरा को भुनाने के लिए शराफे दशहरे पर छूट की पेशकश करते हैं। हर साल की तरह इस साल भी सर्राफों की तरफ से कई लुभावने वादे किए गए लेकिन इस बार बिक्री पिछले साल की अपेक्षा करीब 40 फीसदी कम रहने की आसंका जताई गई है। जिसकी वजह कीमतों में हो रही घट-बढ़ को माना जा रहा है। 

सोने के आभूषणों की सबसे बड़ी खुदरा मंडी दागिना बाजार में इस साल पिछले साल की अपेक्षा ग्राहकों की संख्या कम देखने को मिली और यही नजारा सबसे बड़ी थोक मंडी जवेरी बाजार में देखने को मिला। सर्राफे ग्राहकों की कम संख्या और बिक्री कमजोर रहने की वजह कीमतों पर घट-बढ़ मान रहे हैं। इस बार दशहरे के दिन सोने की कीमत 30,115 रुपए प्रति 10 ग्राम है जबकि पिछले साल दशहरे पर सोने की कीमत 26,900 रुपए थी। पिछले साल की अपेक्षा सोना महंगा होने के अलावा पिछले कुछ दिनों में सोने की कीमतों में आई गिरावट को भी कारण माना जा रहा है। सर्राफा संगठनों का कहना है कि इस साल राज्य में दशहरे के दिन सोने की कुल बिक्री करीब 300 करोड रुपए रहने क उम्मीद है जबकि पिछले साल दशहरे पर करीब 500 करोड़ रुपए का सोना बिका था।

मुंबई ज्वैलर्स एसोसिएशन के सचिव कुमार जैन कहते हैं कि कीमतों में घट-बढ़ की वजह से सोना और सोने की आभूषणों की खरीदारी को लेकर ग्राहक असमंजस में हैं। जिसके चलते ग्राहकी अबकी दशहरे में पिछले साल की अपेक्षा कम है। लोग उम्मीद कर रहे हैं कि अगले कुछ दिनों में सोना और टूट सकता है। दशहरे में खरीदारी कमजोर होने की एक और बढ़ी वजह शादी-विवाह के सीजन में अभी वक्त होना भी है। इस बार शादियों का मुहूर्त 28 नवंबर से शुरू हो रहा है और धनतेरस 28 नवंबर को है जबकि पिछले साल शादियों की शुरूआत 12 नवंबर से हो गई थी जिसकी वजह से लोगों ने खरीदारी शुरू कर दी थी।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You