उर्वरक सबसिडी किसानों के बैंक खातों में जाएगी 

  • उर्वरक सबसिडी किसानों के बैंक खातों में जाएगी 
You Are Hereagriculture
Wednesday, October 26, 2016-6:01 PM

नई दिल्लीः देश भर में किसानों को उर्वरक विशेषकर यूरिया पर दी जा रही। सबसिडी जल्दी ही उनके बैंक खातों के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएगी। रसायन एवं उर्वरक मंत्री अनंत कुमार ने आज यहां नैशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड के एक कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से कहा कि देश के 16 जिलों में उर्वरकों पर सबसिडी किसानों के बैंक खाते में हस्तान्तरित करने का प्रयोग चल रहा है।इन स्थानों से सकारात्मक रिपोर्ट आई है और सरकार इस योजना को जल्दी ही देश भर में लागू करेगी।
  
कुमार ने कहा कि देश में 16 करोड़ से अधिक किसान और बटाईदार हैं जिनके खातों में सब्डी राशि जमा कराना एक बड़ी चुनौती है। सरकार इस चुनौती का मुकाबला करेगी। उन्होंने कहा कि जिस तरह से वस्तु एवं सेवाकर पर सभी दलों में आम सहमति बनाई गई थी, उसी प्रकार से यूरिया सबसिडी पर आम सहमति बनाई जाएगी। 

श्री कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें ‘जमीन बचाओ-किसान बचाओ और सबसिडी बचाओ’का मंत्र दिया है। देश में किसानों को उर्वरक के लिए जितनी सबसिडी की जरूरत होगी,सरकार उसे उपलब्ध कराएगी। उन्होंने कहा कि रसोई गैस और सार्वजनिक वितरण प्रणाली में सबसिडी सीधे बैंक खातों में उपलब्ध कराने का प्रयोग सफल रहा है। उन्होंने कहा कि देश में किसानों को उचित कीमत पर उर्वरक उपलब्ध कराने के लिए सरकार ‘रिवर्स एसईजेड’ के तहत विदेशों में उर्वरक कारखाने लगाने का प्रयास कर रही है। इस संबंध में ऐसे देशों के साथ यह बातचीत की जा रही है जहां गैस सस्ती कीमत पर उपलब्ध है। ईरान में उर्वरक कारखाना स्थापित करने के लिए बातचीत काफी आगे बढ़ चुकी है और अल्जीरिया तथा म्यांमार से भी बातचीत की जा रही है। उर्वरक मंत्री ने कहा कि इन कारखानों में जो उर्वरक बनेगी ,उसे देश में लाया जाएगा। साथ ही जो सह-उत्पाद होंगे उसे देश के अन्य कारखानों के लिए कच्चे माल के रूप में उपयोग में लाया जाएगा। 


वीडियो देखने के लिए क्लिक करें


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You