बीते सप्ताह आयकर विभाग की कार्रवाई के विरोध में सर्राफा बाजार बंद रहा

  • बीते सप्ताह आयकर विभाग की कार्रवाई के विरोध में सर्राफा बाजार बंद रहा
You Are HereBusiness
Sunday, November 20, 2016-2:57 PM

नई दिल्ली: सरकार की आेर से 500 और 1,000 रुपए के नोट को प्रतिबंधित करने के फैसले के कारण सर्राफा व्यापारियों द्वारा कथित रूप से अवैध तरीके से मुनाफा कमाने और कर अपवंचना करने की खबरों के बाद 10 नवंबर को आयकर विभाग ने सर्वे अभियान चलाया जिसके विरोध में बीते सप्ताह राष्ट्रीय राजधानी में स्वर्ण व आभूषण प्रतिष्ठान बंद रहे।

आयकर विभाग का सर्वे अभियान दरीबां कलां, चांदनी चौक और करोलबाग सहित कम से कम 4 स्थानों पर चलाया गया। बीते सप्ताह सरकार ने काले धन पर अंकुश लगाने के प्रयास के तहत 500 और 1,000 रुपए के नोटों को चलन से बाहर कर दिया।  अधिकांश आभूषण विक्रेताआें के शोरूम 11 नवंबर से बंद हैं।  

सूत्रों के अनुसार वित्त मंत्रालय के खुफिया प्रकोष्ठ केन्द्रीय उत्पादशुल्क खुफिया महानिदेशालय (डीजीसीईआई) के अधिकारियों ने उक्त व्यापारियों से सोने की बिक्री का ब्योरा मांगते हुए उन्हें नोटिस भेजा है। व्यापारियों द्वारा नोटबंदी के बाद उनके पास रखे गए स्टाक तथा बिक्री का ब्योरा देने को कहा गया है।  

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You