सरकार ने दलहन खरीद की समय सीमा 22 अप्रैल तक बढ़ाईः पासवान

  • सरकार ने दलहन खरीद की समय सीमा 22 अप्रैल तक बढ़ाईः पासवान
You Are HereBusiness
Saturday, April 15, 2017-1:39 PM

नई दिल्लीः खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने आज कहा कि सरकार ने अभी तक दलहन के 18 लाख टन का बफर स्टॉक तैयार किया है और उसने किसानों से 22 अप्रैल तक दाल खरीदने का फैसला किया है। पिछले वर्ष कुछ दालों के भाव 200 रुपए प्रति किलो ग्राम से उपर चले गए थे। उसके बाद बाजार कीमतों में भारी उतार चढ़ाव को रोकने के उपायों के तहत सरकार ने आयात और स्थानीय खरीद के जरिए 20 लाख टन दलहन का बफर स्टॉक निर्मित करने का फैसला किया था।

सिर्फ किसानों से की जाएगी फसल की खरीद
पासवान ने कहा, हमने दलहनों की खरीद की समय सीमा 22 अप्रैल तक बढ़ाने का फैसला किया है लेकिन मैंने कहा है कि खरीद केवल किसानों से की जानी चाहिए न कि व्यापारियों से। बफर स्टॉक की दिशा में हुई प्रगति के बारे में मंत्री ने कहा कि अभी तक 18.10 लाख टन दलहनों की खरीद की गई है जिसमें से चार लाख टन आयात से और 14 लाख टन घरेलू खरीद से प्राप्त किया गया है। उन्होंने कहा, हमने अभी तक बफर स्टॉक से 96,000 टन दलहनों की बाजार में पेश किया है। करीब 17 लाख टन दलहन अभी भी हमारे पास है। मंत्री ने कहा कि पहले 10 लाख टन दलहनों की खरीद विदेशों से करने की थी और शेष खरीद स्थानीय बाजार से की जानी थी।

कच्ची चीनी के आयात की समयसीमा जून अंत तक बढ़ाई
पासवान ने कहा कि हालांकि इस वर्ष दाल के रिकॉॅर्ड उत्पादन के कारण सरकार ने घरेलू किसानों से कहीं अधिक खरीद की है। चीनी के बारे में पासवान ने आश्वस्त किया कि देश में चीनी की कोई कमी नहीं है और शून्य आयात शुल्क पर पांच लाख टन कच्ची चीनी का आयात करने की अनुमति है ताकि सूखे से प्रभावित कुछ राज्यों में आपूर्ति को बढ़ाया जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार ने कच्ची चीनी के आयात करने की समयसीमा को मौजूदा 12 जून के स्थान पर जून अंत तक करने की अनुमति दे दी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You