जियोफोन को टक्कर देने के लिए आईडिया भी लांच करेगा फोन

  • जियोफोन को टक्कर देने के लिए आईडिया भी लांच करेगा फोन
You Are HereBusiness
Sunday, July 30, 2017-6:06 PM

नई दिल्लीः पहले टॉकटाइम वॉर फिर डाटा वॉर और अब मोबाइल फोन वॉर। जी हां रिलायंस जियों के जियोफोन को टक्कर देने के लिए आईडिया मैदान में कूंद गया है। वॉर किसी के बीच हो लेकिन फायदा कंजूमर्स को ही होने वाला है। देश के तीसरे नंबर के टेलीकॉम ऑपरेटर आईडिया ने जियोफोन को लेकर अपनी चिंता जाहिर करते हुए इसके नेट न्यूट्रैलिटी पर पड़ने वाले प्रभाव की बात कही है। कंपनी के मुताबिक जीयो फोन के जरिये यूजर्स के पास केवल रिलायंस के ऐप्स के इस्तेमाल का ही विकल्प रहेगा। हालांकि कंपनी ने इसके साथ यह भी कहा कि वो जीयो को चुनौती देने के लिए खुद का थोड़ा महंगा हैंडसेट लॉन्च करेगी।

आईडिया सेलुलर के प्रबंध निदेशक हिमांशु कपानिया ने कहा हमारी एक चिंता नेट न्यूट्रैलिटी को लेकर है। यह ग्राहक को उसकी पसंद वाले ज्यादातर ऐप्स इस्तेमाल की अनुमति नहीं देगा और क्योंकि यह ग्राहकों को अपने ही ऐप्स इस्तेमाल के लिए फोर्स करेगा इसलिए उनके पास पसंद के ऐप्स का विकल्प नहीं होगा। 

उन्होंने कहा कि वॉयस इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों के लिए काफी आकर्षक है, देखने वाली बात यह होगी कि जिन्हें इंटरनेट की जरूरत है उन्हें यह कैसे आकर्षित करता है। कपानिया ने बताया कि वोडाफोन में विलय होने वाली आदित्य बिड़ला समूह की कंपनी हैंडसेट निर्माताओं के साथ काम कर रही है ताकि एक फोन लॉन्च किया जा सके जो थोड़ा महंगा होगा लेकिन ग्राहकों को उनकी पसंद की आजादी देगा। 

यह नया हैंडसेट ग्राहकों को सभी पसंद देगा, जिसमें अपनी पसंद के ऑपरेटर को चुनने के अलावा गूगल, फेसबुक या वाट्स एप जैसे मशहूर ऐप्स का एक्सेस शामिल है। ध्यान देने वाली बात है कि जब विश्व भर में टेलीकॉम सेवाओं की बात आती है तो नेट न्यूट्रैलिटी एक काफी संवेदनशील विषय है और देश में पिछले साल से यह गंभीर विषय काफी विवादों में रहा है। बाद में सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक ने देश के ग्रामीणों को इंटरनेट की चुनिंदा सुविधाएं देने पर उठी चिंताओं के मद्देनजर अपनी योजनाएं बंद कर दी थीं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You