IIP ग्रोथ में सुधार, लेकिन अब भी निगेटिव में बरकरार

  • IIP ग्रोथ में सुधार, लेकिन अब भी निगेटिव में बरकरार
You Are HereTop News
Monday, October 10, 2016-6:10 PM

नई दिल्लीः इंडस्ट्री की ग्रोथ में भले ही सुधार देखने को मिला है लेकिन ये अब भी निगेटिव में ही बरकरार है। अगस्त में भी इंडस्ट्री की रफ्तार जुलाई की ही तरह निगेटिव में ही रही है। अगस्त में आई.आई.पी. ग्रोथ सुधरकर -0.7 फीसदी रही है। जुलाई में आई.आई.पी. ग्रोथ -2.5 फीसदी रही थी। दरअसल जुलाई की आई.आई.पी. ग्रोथ -2.4 फीसदी से संशोधित होकर -2.5 फीसदी हो गई है। साल दर साल आधार पर अप्रैल-अगस्त के दौरान आई.आई.पी. ग्रोथ 4.1 फीसदी से घटकर -0.3 फीसदी रही है।

महीने दर महीने आधार पर अगस्त में माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ 0.8 फीसदी से घटकर -5.6 फीसदी हो गई है। हालांकि महीने दर महीने आधार पर अगस्त में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ -3.4 फीसदी से बढ़कर -0.3 फीसदी रही है। लेकिन महीने दर महीने आधार पर अगस्त में इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर की ग्रोथ 1.6 फीसदी से घटकर 0.1 फीसदी हो गई है।

महीने दर महीने आधार पर अगस्त में कैपिटल गुड्स की ग्रोथ -29.6 फीसदी से सुधरकर -22.2 फीसदी रही है। महीने दर महीने आधार अगस्त में बेसिक गुड्स की ग्रोथ 2 फीसदी से बढ़कर 3.2 फीसदी हो गई है। महीने दर महीने आधार पर अगस्त में इंटरमीडिएट गुड्स की ग्रोथ 3.4 फीसदी से बढ़कर 3.6 फीसदी हो गई है।

महीने दर महीने आधार पर अगस्त में कंज्यूमर गुड्स की ग्रोथ 1.3 फीसदी से घटकर 1.3 फीसदी रही है। महीने दर महीने आधार पर अगस्त में कंज्यूमर ड्युरेबल्स की ग्रोथ 5.9 फीसदी से घटकर 2.3 फीसदी रही है। महीने दर महीने आधार पर अगस्त में कंज्यूमर नॉन-ड्युरेबल्स की ग्रोथ -1.7 फीसदी से बढ़कर 0.1 फीसदी रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You