चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में समुद्री उत्पादों के निर्यात में वृद्धि

  • चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में समुद्री उत्पादों के निर्यात में वृद्धि
You Are HereEconomy
Monday, October 16, 2017-4:31 PM

कोच्चिः अंतर्राष्ट्रीय बाजार में फ्रोजन झींगा और फ्रोजेन स्क्विड की मांग बढ़ रही है। देश का समुद्री उत्पाद निर्यात चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में बढ़कर 1.42 अरब डॉलर (9,066.06 करोड़ रुपए) पहुंच गया। यह एक साल पहले इसी तिमाही में यह 1.17 अरब डॉलर था। मात्रा के हिसाब से यह वित्त वर्ष 2017-18 की अप्रैल- जून तिमाही में 2,51,735 टन रहा। इससे पूर्व वर्ष की इसी तिमाही में यह 2,01,223 टन था। समुद्री उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एम.पी.ई.डी.ए.) ने यहां एक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी।

विज्ञप्ति के अनुसार अमरीका तथा दक्षिण पूर्व एशिया भारत के समुद्री उत्पादों के सबसे बड़े आयातक बने हुए हैं। उसके बाद क्रमश: यूरोपीय संघ, जापान का स्थान रहा। समुद्री उत्पाद में फ्रोजन झींगा पहले पायदान पर बना हुआ है। कुल मात्रा में इसकी हिस्सेदारी 50.66 प्रतिशत और कुल कमाई (डॉलर) के संदर्भ में 74.90 प्रतिशत है। दूसरे स्थान पर फ्रोजेन स्क्विड का स्थान रहा। मात्रा के हिसाब से इसकी 7.82 प्रतिशत और डॉलर में कमाई के संदर्भ में 5.81 प्रतिशत हिस्सेदारी रही। देश के अन्य प्रमुख समुद्री खाद्य पदार्थ फ्रोजेन मछली शमिल है। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You