2016-17 में देश का इस्पात आयात रहा 74 लाख टन

  • 2016-17 में देश का इस्पात आयात रहा 74 लाख टन
You Are HereBusiness
Wednesday, April 19, 2017-12:05 PM

नई दिल्लीः देश में 2016-17 में तैयार इस्पात का आयात 36 प्रतिशत घटकर 74 लाख टन रहा, वहीं निर्यात 102 प्रतिशत उछलकर 82 लाख टन पहुंच गया। ‘ज्वाइंट प्लांट कमेटी’ की 2016-17 की रिपोर्ट के अनुसार उत्पादन के मामले में भी प्रदर्शन अच्छा रहा। कुल तैयार इस्पात का निर्यात 2016-17 के अप्रैल-मार्च में 82.44 लाख टन रहा जो पिछले साल इसी अवधि में 40 लाख टन था, वहीं आयात पर निर्भरता घटकर 74 लाख टन पर आ गई जो पिछले वित्त वर्ष 2015-16 में 1.17 करोड़ टन थी।
 

वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान कच्चे इस्पात का उत्पादन 9.74 करोड़ टन रहा जो इससे पूर्व वित्त वर्ष के मुकाबले 8.5 प्रतिशत वृद्धि को बताता है। वर्ष 2015-16 में कच्चे इस्पात का उत्पादन 8.97 करोड़ टन था। इस्पात की खपत भी 2016-17 में 8.15 लाख टन से बढ़कर 8.39 लाख टन हो गई। भारत कच्चे इस्पात के उत्पादन के मामले में चीन और जापान के बाद तीसरे स्थान पर है और निकट भविष्य में दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश बनने का लक्ष्य है। वर्ष 1964 में गठित जे.पी.सी. लोहा और इस्पात सामग्री के उत्पादन, आबंटन, कीमत और वितरण के लिए दिशानिर्देश तैयार करती है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You