आईटी कंपनियों को ट्रंप से अच्छे की उम्मीद

  • आईटी कंपनियों को ट्रंप से अच्छे की उम्मीद
You Are Herecompany
Wednesday, November 09, 2016-7:21 PM

नई दिल्ली: भारतीय आई.टी. उद्योग को उम्मीद है कि अमरीका के राष्ट्रपति के रूप में डोनल्ड ट्रंप उनके लिए अच्छे साबित होंगे। उद्योग को उम्मीद है कि ट्रंप ने चुनाव प्रचार के दौरान आऊटसोर्सिंग के खिलाफ जो रुख अपनाया था उस पर वे पदभार ग्रहण करने के बाद कायम नहीं रहेंगे क्योंकि इसका अमरीकी अर्थव्यवस्था को प्रतिस्पर्धी बनाए रखने में बड़ा योगदान है। इस उद्योग के दिग्गजों का मानना है कि ट्रंप की जीत से 110 अरब डॉलर के भारतीय प्रौद्योगिकी क्षेत्र पर असर नहीं होगा क्योंकि अमरीका के समक्ष उच्च कौशल वाले पेेशेवरों का टोटा है।

साफ्टवेयर व आई.टी. कंपनियों के शीर्ष संगठन नासकाम ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि ट्रंप की अगुवाई में नई अमरीकी सरकार भारत के साथ रणनीतिक संबंधों को उच्च प्राथमिकता देगी जिसमें अमरीका-भारत द्विपक्षीय व्यापार व निवेश संबंधों को मजबूत बनाना शामिल है।’

उल्लेखनीय है कि ट्रंप ने प्रचार अभियान के दौरान कुशल श्रमिकों के लिए वीजा नियमों को कड़ा बनाने तथा रोजगार वापस अमरीका लाने पर जोर दिया था। अनेक लोगों ने आशंका जताई थी कि ट्रंप जीते तो भारतीय पेशेवरों की नौकरियां जा सकती हैं। बी.पी.आे. उद्योग के दिग्गज रमन राय ने कहा कि यह क्षेत्र अमरीकी का आर्थिक वृद्धि गाथा का अभिन्न हिस्सा है। इंफोसिस के पूर्व एच.आर. प्रमुख टी.वी. मोहनदास पई का मानना है कि इस बारे में अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगा। जेनपेक्ट के संस्थापक प्रमोद भसीन ने कहा कि हालांकि वे मतदान परिणामों से ‘हतप्रभ’ हैं लेकिन उन्हें नहीं लगता कि इसका भारतीय प्रौद्योगिकी कंपनियों पर कोई नकारात्मक असर होगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You