वेटिकन में मैकडोनाल्ड पर गुस्सा क्यों?

  • वेटिकन में मैकडोनाल्ड पर गुस्सा क्यों?
You Are Herecompany
Sunday, October 16, 2016-11:44 AM

रोमः अमरीकी रेस्त्रां कंपनी मैकडोनाल्ड के वेटिकन में अपना नया रेस्त्रां खोलने की योजना से वहां लोगों की भूख जगी हो या नहीं पर गुस्सा जरूर फूटा है। इस गुस्से का प्रतिनिधि करने वाले प्रमुख लोगों में वहां के कार्डिनल हैं। मैकडोनाल्ड्स ने रोम के सेंट पीटर्स चौक के पास ही एक जगह अपना रेस्त्रां खोलने की योजना बनाई है। इससे खास कर वेटिकन के कार्डिनलगण नाराज हैं। कारण यह है कि इसके लिए प्रस्तावित स्थल के ठीक ऊपर ही इन लाल टोपीधारण करने वाले कार्डिनलगण के रहने का स्थान है। इन कार्डिनल को ‘प्रिंसेज आफ दी चर्च’ यानी चर्च के राजकुमार कहा जाता है।  

कार्डिनल एलिआे सग्रेसिया ने मशहूर मैक बर्गर की दुकानें चलाने वाली अमेरिकी कंपनी की योजना पर नाराजगी जाहिर करते हुए अखबार ‘ला रिपब्लिका’ से बातचीत में कहा, ‘कुछ भी हो यह एक विवादास्पद और आेछा निर्णय है।’ उन्होंने कहा कि वैटिकन के मुख्य सभाकक्ष के दाहिने तरफ एेसे स्थान पर मैकडोनाल्ड का रेस्त्रां खोलना किसी भी तरह से एेसी जगह के प्रति सम्मान जानक नहीं कहा जा सकता जो अपनी स्थापत्य कला की परम्परा के लिए जाना जाता है और सेंटपीटर्स के प्रसिद्ध स्तम्भों की कतार से दिखता है।  

कार्डिनल एग्रेसिया उस इमारत में खुद नहीं रहते पर वहां 7 अन्य कार्डिनलों का निवास है और 538 वर्ग मीटर क्षेत्र में फैला है। एक नाराज कार्डिनल ने तो इसके खिलाफ पोप फ्रांसिस को खत तक लिख मारा है। उसने पोप से इस मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की है। अखबार के अनुसार वैसे वहां रेस्त्रां खलने से पोप की पीठ वेटिकन को महीने में 30,000 यूरो का किराया मिलेगा। पर इसके कारण वहां शोर बढ जाएगा और बर्गर की महक फैलेगी। वेटिकन के आस के बोर्गो क्षेत्र का संरक्षण करने वाली समिति के प्रमुख मोरेनो प्रासपेरी ने कहा कि वहां पहले से पर्यटकों के कारण भारी भीड़ रहती है, मैकडोनाल्ड रेस्त्रां खुलने से उस इलाके को एक और नुकसान होगा। समिति के एक सदस्य ने इशारा किया कि इसके कारण वहां आतंक का खतरा और बढ़ सकता है। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You