आम उत्पादन में भारी गिरावट, निर्यात पर भी हो रहा असर

  • आम उत्पादन में भारी गिरावट, निर्यात पर भी हो रहा असर
You Are HereBusiness
Sunday, July 09, 2017-4:55 PM

नई दिल्लीः मौसम की मार की वजह से उत्तर प्रदेश के आम बागवानों को इस साल भारी नुकसान उठाना पड़ा है. उत्पादन में करीब 70 प्रतिशत की गिरावट होने के कारण निर्यात भी बेहद मामूली है। आल इण्डिया मैंगो ग्रोवर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष इंसराम अली ने बताया, 'इस साल आम का उत्पादन बमुश्किल 10 से 15 लाख टन का हुआ है, जो पिछले साल के 44 लाख टन के मुकाबले काफी कम है। इस बार आम की पैदावार में लगभग 70 प्रतिशत तक की गिरावट आ चुकी है। उन्होंने कहा कि पिछली बार दुबई, मस्कट और सउदी अरब में करीब 4000 टन आम का निर्यात किया गया था, लेकिन इस दफा पैदावार बेहद कम होने की वजह से आम का निर्यात भी नहीं हो रहा है।
PunjabKesari
कुछ आम उत्पादक एक्सपोर्ट कर रहे हैं लेकिन कुल निर्यात लगभग न के बराबर होगा। अली ने यह भी बताया कि आम निर्यातकों की वाजिब मांगों को लेकर सरकार का रवैया अब तक उदासीन बना हुआ है। आलम यह है कि पिछले साल किए गए आम निर्यात का अनुदान निर्यातकों को आज तक नहीं मिला। आम के उत्पादन में यह गिरावट समय से पहले लगातार पुरवा हवा चलने और पेड़ों में एक किस्म का फंगस लगने की वजह से हुई है। पिछले साल बम्पर फसल के कारण दाम कम होने की वजह से लखनवी रसीले आम का जायका लगभग हर वर्ग तक पहुंचा था। पिछली साल जो आम 15 से 20 रुपए किलोग्राम बिका था, वह इस साल 50 रुपए से भी ज्यादा के दामों पर बिक रहा है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You