Subscribe Now!

पटरी पर लौटा मारुति का निर्यात

  • पटरी पर लौटा मारुति का निर्यात
You Are HereBusiness
Wednesday, October 12, 2016-2:34 PM

नई दिल्लीः देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड का निर्यात सितंबर में 51.35 प्रतिशत की दमदार बढ़ौतरी के साथ पटरी पर लौटता दिखा। वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सियाम द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, कंपनी ने सितंबर में 11 हजार 618 वाहनों का निर्यात किया जो पिछले साल सितंबर की तुलना में 51.35 प्रतिशत अधिक है। पारंपरिक तौर पर पिछले कुछ वर्षों से निर्यात में दूसरे नंबर पर रही मारुति चालू वित्त वर्ष के पहले 4 महीने में निर्यात में गिरावट के कारण तीसरे नंबर पर खिसक गई है। 

अप्रैल में उसका निर्यात 14.22 प्रतिशत, मई में 21.16 प्रतिशत, जून में 46.81 प्रतिशत तथा जुलाई में 2.46 प्रतिशत घट गया था। अगस्त में निर्यात में 9.47 फीसदी तथा सितंबर में 51.35 फीसदी की बढ़ौतरी दर्ज की गई। मारुति का निर्यात बढ़ाने में सबसे बड़ा योगदान काम्पैक्ट कारों बलेनियो, सलेरियो, डिजायर आदि का रहा। इस श्रेणी की कारों का निर्यात सिंतबर में 143 प्रतिशत बढ़ा है। इस वित्त वर्ष की पहली छमाही में अप्रैल से सितंबर के दौरान 2.01 प्रतिशत की बढ़ौतरी के साथ 87 हजार 499 वाहनों का निर्यात कर हुंडई मोटर इंडिया ने अपना पहला स्थान बनाए रखा है। 

हालांकि, 73 हजार 821 यात्री वाहनों का निर्यात कर 32.25 प्रतिशत की वृद्धि के साथ फोर्ड इंडिया दूसरे स्थान पर रही जबकि मारुति 60 हजार 526 वहानों का निर्यात कर 7.87 प्रतिशत की गिरावट के साथ तीसरे स्थान पर खिसक गई है। इससे पहले लगातार 2 वित्त वर्ष में निर्यात के मामले में हुंडई पहले तथा मारुति दूसरे स्थान पर रही थी। वर्ष 2014-15 में हुंडई ने एक लाख 91 हजार 221 तथा मारुति ने एक लाख 21 हजार 701 वाहनों का निर्यात किया था। वर्ष 2015-16 में इनका निर्यात क्रमश: एक लाख 62 हजार 221 तथा एक लाख 23 हजार 850 रहा था।   

आंकड़ों के अनुसार, सितंबर में कारों का निर्यात 24.93 प्रतिशत बढ़कर 56 हजार 150 पर पहुंच गया जो चालू वित्त वर्ष की सबसे तेज वृद्धि है। अगस्त में इसमें 23.25 प्रतिशत की तेजी देखी गई थी। कारों, उपयोगी वाहनों तथा वैनों को मिलाकर यात्री वाहनों का कुल निर्यात सितंबर में 24.06 प्रतिशत बढ़कर 70 हजार 962 पर पहुंच गया। अगस्त में यह 26.98 प्रतिशत बढ़ा था। चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही में कारों का निर्यात 6.88 प्रतिशत, उपयोगी वाहनों का 58.87 प्रतिशत तथा वैनों का 118.03 प्रतिशत बढ़ा है। इस प्रकार यात्री वाहनों का कुल निर्यात 15.38 फीसदी बढ़कर 3 लाख 67 हजार 110 पर पहुंच गया है। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You