नौकरियां देने में नाकाम रही मोदी सरकार

  • नौकरियां देने में नाकाम रही मोदी सरकार
You Are HereBusiness
Friday, September 22, 2017-1:38 PM

नई दिल्लीः मोदी सरकार को सत्ता में आए हुए 3 साल से ज्यादा हो गए हैं। सरकार के कार्यकाल के दौरान नई नौकरियों के मौकों में 60 फीसदी से ज्यादा की कमी आई है। इसका खुलासा श्रम मंत्रालय की रिपोर्ट में किया गया है। इसकी मतलब साल 2014 में मार्कीट में 4.21 लाख नई नौकरियां पैदा हुई। वहीं साल 2015 में मात्र 1.35 लाख नई नौकरियां मार्कीट में आईं। इसी तरह से 2016 में 1.35 लाख नई नौकरियां के अवसर पैदा हुए।

नौकरियों में गिरावट की सबसे बड़ी वजह
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लोगों से यह वादा किया था कि उनकी सरकार इस तरह की पॉलिसी लेकर आएगी जिससे हर साल करीब 2 करोड़ नए जॉब्स लोगों को मिलेंगे। एक अर्थशास्त्री के अनुसार नई नौकरियों में गिरावट आने की सबसे बड़ी वजह मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर ग्रोथ में तेज गिरावट है। पिछले 3 सालों में मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ घट कर 10 प्रतिशत पर आ गई है। और इसकी वजह यह है कि मार्कीट में डिमांड कम हो गई हैं, खरीददारी में भी गिरावट है। जिसकी वजह से प्रोडेक्शन कम हैं। अब प्रोडेक्शन कम है तो जाहिर सी बात है कि मार्कीट में जॉब्स नहीं हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You