जानेंः इतने पुराने नोटों का क्या करेगा RBI?

  • जानेंः इतने पुराने नोटों का क्या करेगा RBI?
You Are Herebanking
Sunday, November 13, 2016-4:56 PM

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई घोषणा के बाद से 500, 1000 के नोट अमान्य हैं। जिसके बाद से देशभर के बैंकों में लोग पैसे बदलवा रहे हैं। ऐसे में बहुत सारे लोगों के जेहन में यह बात आती है कि पुराने नोटों का सरकार क्या करेगा?

आर.बी.आई. के मुताबिक वह इन नोटों को खत्म करने की तैयारी में जुटा है। केंद्रीय बैंक के एक अधिकारी ने कहा, 'हम पूरी तरह से तैयार हैं।' उन्होंने कहा कि इन पुराने नोटों की श्रेडिंग (चूर-चूर करना) की जाएगी।

क्या होगा पुराने नोटों का?
एक अधिकारी ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा, 'इन नोटों को अब रिसाइकल नहीं किया जा सकता है। इसलिए इनकी श्रेडिंग की जाएगी और फिर इन्हें पिघलाकर कोयले की ईंटें तैयार की जाएंगी। फिर इन्हें कॉन्ट्रैक्टर्स को दे दिया जाता है, जिन्हें वे लोग लैंड फिलिंग यानी सड़कों गड्ढे आदि भरने में इस्तेमाल करते हैं।' मार्च 2016 में देश में 15,707 मिलियन 500 रुपए के नोट प्रचलन में थे। वहीं, 1000 रुपए के नोटों की संख्या 6,326 मिलियन थी।

दुनिया भर में केंद्रीय बैंक अलग-अलग तरीकों से प्रचलन से बाहर हुए नोटों का निपटान करते रहे हैं। इनमें से एक तरीका इन नोटों को जलाकर इमारतों को गर्म करने का काम भी किया जाता है। 1990 तक बैंक ऑफ इंगलैंड की ओर से बैंकों के निपटान के लिए इसी तरीके को अपनाया जाता था। वर्ष 2000 के बाद से बैंक ऑफ इंगलैंड ने प्रचलन से बाहर हुए नोटों की खाद तैयार करना शुरू कर दिया है। इसे खेतों में डाला जाता है, जिससे मिट्टी की उर्वरकता बढ़ती है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You