‘स्नीकर खेल’ में एडिडास से हारा नाइकी

  • ‘स्नीकर खेल’ में एडिडास से हारा नाइकी
You Are HereBusiness
Friday, November 24, 2017-9:54 AM

नई दिल्लीः वर्ष 1967 में नाइकी दुनिया भर में जूता ब्रांड की एक प्रसिद्ध कम्पनी बन गई थी, जिसे अब अपनी नई पहचान की जरूरत है क्योंकि यह ‘स्नीकर खेल’ में एडिडास से हार गया। नाइकी कम्पनी के सूत्रों के अनुसार कम्पनी के सह-संचालकों फिल नाइट और बिल बोवरमैन ने ‘अजटैक’ की स्थापना की थी परन्तु एक प्रमुख उद्योग एडीडास जिसका अपना ‘अजटैक्का गोल्ड’ ब्रांड है, कथित तौर पर मुकद्दमेबाजी की धमकी दे रहा है।

ओरीगोन उद्धमियो ने दी चुनौती
ब्रांड बारे अपनी पसंद का जिक्र करते हुए ओरीगोन उद्धमियों ने जर्मन जूता निर्माता के साथ दशकों की व्यापक दुश्मनी को मुख्य रखते हुए चुनौती दी है। अपने 50 सालों के कारोबार दौरान नाइकी ने एथलीटों के जूतों के उत्पादन के अलावा और उत्पादों में दोनों व्यापारिक व रिवायती क्षेत्र में उत्पादन का कीर्तिमान स्थापित किया था परंतु पिछले वर्ष लम्बी लड़ाई के बाद एडीडास एक बार फिर आगे आ गया है।

अपनी जीत के लिए लगाना होगा जोर
अब नाइकी को अपनी जीत के लिए फिर जोर लगाना होगा। बीती सितम्बर को चीफ एग्जीक्यूटिव अफसर मार्क  पारकर ने अपने कारोबार को ऊंचा उठाने का काम आरंभ कर दिया है। उसने विश्लेषकों और निवेशकों को बताया कि नाइकी एडीडास की तरह पृष्ठभूमि कामयाबी को देखते हुए मार्कीट में फिर छा जाएगी। उन्होंने यह भी ऐलान किया कि कोरटेज की अब मार्कीट में वापसी हो रही है। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You