NIKE ने क्रिकेट टीम से अपनी स्पॉन्सरशिप वापस ली

  • NIKE ने क्रिकेट टीम से अपनी स्पॉन्सरशिप वापस ली
You Are Herecompany
Saturday, November 05, 2016-11:13 AM

नई दिल्लीः दुनिया की सबसे बड़ी स्पोट्सवियर कंपनी नाइकी ने क्रिकेट टीम से अपनी स्पॉन्सरशिप वापस ले ली है क्योंकि भारत की लगभग आधी क्रिकेट टीम बिना किसी बैट ऐडवर्टाइजर के खेल रही है। कंपनी ने भारतीय क्रिकेट टीम के अंजिक्य रहाणे, आर अश्विन और रविंद्र जडेजा के साथ अपने करार को रिन्यू नहीं किया। जिससे अब लगभग आधी टीम के बैट पर कोई स्टीकर नहीं है।

नाइकी इंडिया बुरे दौर से गुजर रही है और 2014-15 में उसका घाटा 500 करोड़ से ज्यादा का है। वहीं सूत्रों का कहना है कि नाइकी इंडिया की तरफ से मेरठ में बल्ला बनाने वाली किसी कंपनी के पास दो साल से कोई कॉन्ट्रैक्ट नहीं गया है। नाइकी क्रिकेट में पैसा लगाने वाला सबसे बड़ा स्पॉन्सर बना हुआ है। टीम की क्रिकेट किट को कंपनी करीब 60 करोड़ रुपए हर साल बीसीसीआई को स्पॉन्सर करती है। हालत यह है कि नाइकी को घाटा कम करने के लिए भारत में 30 प्रतिशत स्टोर्स बंद करने पड़े।

वहीं मनीष पांडे, अक्षर पटेल और उमेश यादव को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए वनडे में बिना स्टीकर के बैट से खेलते देखा गया था। वहीं केधार जाधव के बैट पर उसे बनाने वाले का लेबल लगा हुआ था। भारत में क्रिकेट बैट को स्पॉन्सर एक महंगी मार्केटिंग एक्साइज है। टॉप प्लेयर्स जैसे विराट कोहली, एम.एस. धोनी के बल्ले पर एक साल के लिए अपना लोगो लगाने के लिए कंपनियों को 7 से 10 करोड़ रुपए खर्च करने पड़ते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You