नए जूतों की जगह भेजे पुराने, अब कंपनी को देना होगा मुआवजा

  • नए जूतों की जगह भेजे पुराने, अब कंपनी को देना होगा मुआवजा
You Are HereBusiness
Tuesday, July 25, 2017-1:15 PM

गुरदासपुर: भारत की नंबर वन जूते बनाने वाली कम्पनी जाबोंग ई.कामर्स गुडगांव द्वारा एक ग्राहक को आन लाईन खरीद पर पुराने प्रयोग किए जूते भेजने पर जिला शिकायत निवारण फोरम गुरदासपुर ने कम्पनी सहित कोरियर सर्विस कम्पनी को आदेश दिया है कि वह ग्राहक को जूतों की ली गई राशि सहित 3000 रुपए मुआवजा 30 दिन में अदा करे। निर्धारित समय में राशि अदा न करने पर फोरम द्वारा जारी आदेश की तिथि से 9 प्रतिशत ब्याज सहित पूरी राशि अदा करनी होगी।

यह है मामला
गुरदासपुर निवासी मोहित महाजन ने 28 फरवरी 2016 को जाबोंग कम्पनी को आन लाईन बूट (प्रोवोग ब्लैक शू) खरीदने के लिए आर्डर किया। इसकी कीमत 2199 रुपए थी। इस पर कम्पनी ने 4 मार्च 2016 को फस्ट फ्लाईट कोरियर सॢवस के माध्यम से याचिकाकर्ता को बूट भेज दिए पप जब पार्सल खोला तो पार्सल में क्षतिग्रस्त बूट थे। कम्पनी को सूचित करने पर कम्पनी ने कहा कि बूट हमें वापिस भेंज दे आपको नए बूट भेज दिए जाएंगे। दोबार भेजे गए बूट भी पुरान थे।

क्या कहना फोरम का 
फोरम प्रधान नवीन पुरी ने बताया कि याचिकाकर्ता द्वारा फोरम के पास याचिका दायर करने पर जाबोंग कम्पनी का तो कोई प्रतिनिधि फोरम समक्ष पेश नहीं हुआ,जबकि कोरियर सर्विस के वकीलों तथा याचिकाकर्ता के वकील की दलीले सुनने के बाद कम्पनी तथा कोरियर सर्विस कम्पनी को आदेश दिया गया कि वह अकेले या संयुक्त रूप में याचिकाकर्ता को 2228 रुपए बूट की कीमत तथा 3000 रुपए मुआवजा 30 दिन में अदा करे। यदि निर्धारित समय पर यह मुआवजा अदा नहीं किया जाता तो फोरम द्वारा आदेश सुनाए जाने की तिथि से 9 प्रतिशत ब्याज सहित राशि वापिस करनी होगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You