प्री-बजट मीटिंग शुरू, कि‍सान संगठनों से मि‍ले अरुण जेतली

  • प्री-बजट मीटिंग शुरू, कि‍सान संगठनों से मि‍ले अरुण जेतली
You Are HereTop News
Saturday, November 19, 2016-4:14 PM

नई दिल्लीः वित्त मंत्री अरुण जेतली ने शनिवार से प्री-बजट मीटिंग शुरू की दी है। मीटिंग के पहले दौर में जेटली सबसे पहले किसान संगठनों से मुलाकात कर रहे हैं। इस मीटिंग में अरुण जेतली के अलावा आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास और वित्त सचिव अशोक लवासा एग्रीकल्चर और उससे संबंधित सैक्टर्स पर चर्चा कर रहे हैं। इस मीटिंग में कार्गिल फूड इंडिया के चेयरमैन सीराज चौधरी भी मौजूद हैं। साल 2017-18 के लिए सरकार 1 फरवरी को बजट पेश करने जा रही है।

विभिन्न मुद्दों पर होगी चर्चा
मीटिंग के दौरान अरुण जेतली और किसान संगठनों के बीच विभिन्न मुद्दों पर चर्चा होगी। इसमें किसानों की आय दोगुनी करने पर बातचीत होगी। सरकार के साथ एम.एस.पी. को लेकर भी चर्चा होगी। इसके अलावा, हाल ही में सरकार की ओर से 500 रुपए और 1000 रुपए के नोटों को बंद किए जाने के बाद किसानों को होने वाली दिक्कतों पर भी बातचीत होगी। माना जा रहा है कि नोटों को बंद किए जाने से किसानों को काफी दिक्कत आ रही है लेकिन किसान नकदी की किल्लत की वजह से इसे बेच नहीं पा रहे हैं।

ट्रेड यूनियन से भी करेंगे मुलाकात
केंद्रीय श्रमिक संगठनों के प्रतिनिधि प्री बजट के लिए अरुण जेतली से मिलेंगे। बैठक के दौरान वे न्यूनतम मजदूरी और पेंशन के मुद्दे को उठाएंगे। भारतीय मजदूर संघ बी.एम.एस. ने कहा कि वह सरकार से देश भर में न्यूनतम वेतन 102 रुपए से बढ़ाकर 350 रुपए प्रतिदिन किए जाने की अपनी अधिसूचना लागू करने का अनुरोध करेगा। बीएमएस ने एक बयान में कहा है कि सरकार ने अगस्त में अधिसूचना जारी की थी कि वह सामाजिक सुरक्षा लाभ आंगनवाड़ी, आशा तथा मध्याह्न भोजन कार्यकर्ताओं को उपलब्ध कराएगी। उसने मामले पर गौर करने के लिए समिति गठित की थी। हम मांग करेंगे कि उन्हें आने वाले बजट में इस संदर्भ में पर्याप्त व्यवस्था करनी चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You