Subscribe Now!

नोएडा और ग्रेनो में प्रापर्टी कारोबार 50 प्रतिशत गिरा

  • नोएडा और ग्रेनो में प्रापर्टी कारोबार 50 प्रतिशत गिरा
You Are HereBusiness
Friday, February 02, 2018-1:03 PM

नोएडा : नोएडा और ग्रेटर नोएडा के प्रापर्टी कारोबार में भारी गिरावट दर्ज की गई है। चालू वित्त वर्ष में 10 महीनों में बमुश्किल 50 प्रतिशत कारोबार हुआ है। लिहाजा इससे सरकार को भी राजस्व का बड़ा नुक्सान होगा। स्टाम्प और पंजीकरण विभाग ने शासन को रिपोर्ट भेजकर जानकारी दी है।

सरकार का अनुमान था कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में इस साल कम से कम 50,000 करोड़ रुपए की सम्पत्तियों की खरीद-फरोख्त होगी। स्टाम्प और पंजीकरण विभाग ने दोनों शहरों से 2,522 करोड़ रुपए की आमदनी का लक्ष्य तय किया था लेकिन हालात बेहद खराब रहे और अब तक प्रापर्टी कारोबार लगभग 25,000 करोड़ रुपए तक पहुंचा है जिससे स्टाम्प और पंजीकरण विभाग को केवल 1,200 करोड़ रुपए की आय हुई है। 

जिला प्रशासन ने हालात के बारे में सरकार को रिपोर्ट भेजी है। नोएडा के सहायक महानिरीक्षक (स्टाम्प और पंजीकरण) एस.के. सिंह का कहना है कि चालू वित्त वर्ष में केवल 2 महीने बाकी हैं। हम अब तक आधा राजस्व हासिल कर पाए हैं। आने वाले 2 महीनों में सुधार की कोई संभावना नहीं। दरअसल शहर में रियल एस्टेट सैक्टर का बुरा हाल है जिसका नकारात्मक असर प्रापर्टी कारोबार पर पड़ा है। इस साल री-सेल नहीं के बराबर हुई है। पुरानी सम्पत्तियों को खरीदार नहीं मिल रहे हैं। निवेशकों ने बाजार से हाथ खींच लिया है।

अब तक का सबसे बुरा दौर 
नोएडा और ग्रेटर नोएडा के सम्पत्ति कारोबार ने सबसे बुरा दौर वर्ष 2008-09 में देखा था। उस साल गिरावट 30 प्रतिशत थी। कारोबारियों का कहना है कि इस साल हालात बेहद खराब हैं। 50 प्रतिशत गिरावट ने कमर तोड़ दी है।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You