आइडिया-वोडा के विलय पर सवाल

  • आइडिया-वोडा के विलय पर सवाल
You Are HereBusiness
Thursday, May 18, 2017-10:47 AM

नई दिल्लीः बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने आदित्य बिड़ला समूह प्रवर्तित आइडिया सेल्युलर से वोडाफोन पी.एल.सी. की भारतीय इकाई के साथ प्रस्तावित विलय पर स्पष्टटीकरण मांगा है। सूत्रों के मुताबिक सेबी ने आइडिया से प्रस्तावित सौदे के लिए शेयर कीमत तय करने की पद्घति का विवरण साझा करने को कहा है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि उसकी कीमत का निर्धारण सूचीबद्घता नियमन के तहत किया गया है या नहीं।

नियामक ने यह भी पूछा है कि आइडिया सेल्युलर ने वोडाफोन के साथ विलय के लिए शेयरों का मूल्य निर्धारण किस तरह से किया है। सेबी का यह कदम छोटे निवेशकों के हितों का संरक्षण और कंपनी में अपनी हिस्सेदारी के बारे में सटीक जानकारी प्राप्त करने का अवसर प्रदान करता है। 
 
22 मई तक सभी सवालों का देना होगा जवाब 
नियामक ने आदित्य बिड़ला समूह से प्रवर्तकों के शेयर हस्तांतरण समझौते का ब्योरा भी मांगा है, जिसके तहत प्रवर्तक कंपनियां विलय के बाद वोडाफोन से 4.94 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेंगी और अगले चार साल में 9.88 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी। इस पर भी सवाल उठाए गए हैं कि इस समझौते को विलय योजना का हिस्सा क्यों बनाया गया। कंपनी को 22 मई तक सभी सवालों के जवाब देने को कहा गया है। इस बारे में जानकारी के लिए आदित्य बिड़ला समूह की कंपनियों से संपर्क किया गया लेकिन उन्होंने इस मामले में कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You