रतन टाटा ने नियुक्त किए 2 नए डायरेक्टर, मामले को PM तक ले जाएंगे मिस्त्री

  • रतन टाटा ने नियुक्त किए 2 नए डायरेक्टर, मामले को PM तक ले जाएंगे मिस्त्री
You Are Herecompany
Wednesday, October 26, 2016-1:37 PM

नई दिल्लीः साइरस मिस्त्री की टाटा संस के चेयरमैन पद से बिदाई हो गई और रतन टाटा ने यह पद दुबारा संभाल लिया है। रतन टाटा ने मंगलवार को टाटा संस के बोर्ड में 2 नए डायरेक्टर्स अपॉइंट कर टाटा ग्रुप पर अपना कंट्रौल और मजबूत कर लिया। कंपनी ने 4 महीने में नए चेयरमैन की नियुक्ति का दावा किया है, तब तक रतन टाटा को अंतरिम चेयरमैन बनाया गया है। ग्रुप के चेयरमैन पद के लिए टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टी.सी.एस.) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक एन. चंद्रशेखरन और जगुआर लैंड रोवर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राल्फ स्पेथ के नाम सबसे आगे चल रहे हैं। दोनों को कंपनी निदेशक मंडल में डायरेक्टर नियुक्त किया गया है। इसके साथ ही टाटा संस के निदेशक मंडल में सदस्यों की संख्या 11 हो गई है।

रतन टाटा ने मंगलवार सुबह ग्रुप कंपनियों के मैनेजिंग डायरेक्टरों और चीफ एग्जिक्युटिव ऑफिसर्स के साथ मीटिंग की ताकि इस ग्रुप के पावर स्ट्रक्चर को वह अपने मुताबिक दिशा दे सकें। सूत्रों के मुताबिक, टाटा ने विभिन्न कंपनियों के प्रमुखों से वृद्धि और मुनाफे पर जोर देने के साथ शेयरहोल्डर वैल्यू बढ़ाने पर ध्यान देने को कहा। टाटा ने कहा कि ग्रुप की कंपनियों के मौजूदा कार्यकलाप का मूल्यांकन किया जा रहा है जो जरूरी समझे जाएंगे, उन्हें जारी रखा जाएगा। सूत्रों ने बताया कि समूचे सिस्टम की ओवरहॉलिंग की जा सकती है। मिस्त्री ने करीब 4 साल के अपने कार्यकाल में ग्रुप में कई बदलाव किए थे और इस 150 साल पुराने ग्रुप का कर्ज घटाने के साथ उन्होंने इसका फोकस कन्ज्यूमर पर बढ़ाया था।

पीएम तक पहुंचा मामला
इस बीच ये मसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंच गया है। साइरस मिस्त्री ने पीएम मोदी से मिलने का समय मांगा है। चेयरमैन के पद पर रहते हुए मिस्त्री को राजनीतिक पकड़ मजबूत करते हुए देखा गया था। वहीं रतन टाटा ने भी मामले में पीएम को शामिल करते हुए लेटर लिखकर मिस्त्री को हटाए जाने के बारे में जानकारी दी। इससे पहले खबर आई कि टाटा ग्रुप में मतभेदों का मामला अदालत तक पहुंच गया है. टाटा की ओर से सुप्रीम कोर्ट, बॉम्बे हाई कोर्ट और NCLT में साइरस मिस्त्री को अपनी बर्खास्तगी के खिलाफ कोई कदम उठाने से रोकने के लिए कैविएट दायर किया गया है. साइरस मिस्त्री के ऑफिस से जानकारी दी गई है कि साइरस ने कोई कैविएट फाइल नहीं की है। मिली जानकारी के मुताबिक टाटा ने मिस्त्री की ओर से किसी लीगल एक्शन के मद्देनजर कैविएट दाखिल की है। 


वीडियो देखने के लिए क्लिक करें

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You