शुरूआती कारोबार में रीयल्टी कंपनियों को जोरदार झटका, शेयर 20% तक टूटे

  • शुरूआती कारोबार में रीयल्टी कंपनियों को जोरदार झटका, शेयर 20% तक टूटे
You Are HereBusiness
Wednesday, November 09, 2016-11:28 AM

 

नई दिल्ली: सरकार द्वारा कालेधन पर अंकुश के लिए कल कड़े उपायों की घोषणा से आज शेयर बाजारों में शुरूआती कारोबार में रीयल्टी कंपनियों के शेयरों को जोरदार झटका लगा। रीयल्टी कंपनियों के शेयर 20 प्रतिशत तक टूट गए। यूनिटेक और डी.एल.एफ. जैसी बड़ी कंपनियों के शेयरों में सबसे अधिक गिरावट आई।

कारोबार के पहले घंटे में बंबई शेयर बाजार का रीयल्टी सूचकांक करीब 11 प्रतिशत टूटकर 1,314.97 अंक पर आ गया। यूनिटेक का शेयर 20 प्रतिशत नीचे आ गया। डी.एल.एफ. में 13 प्रतिशत तक की गिरावट आई। हालांकि बाद में इसमें कुछ सुधार आया। यूनिटेक का शेयर 4.75 रुपए पर कारोबार कर रहा था। डीएलएफ का शेयर 126 रुपए पर आ गया। अन्य कंपनियों में प्रेस्टीज एस्टेट्स प्रोजेक्ट्स का शेयर 17 प्रतिशत के नुकसान से 153.25 रुपए, शोभा डेवलपर्स 11 प्रतिशत टूटकर 240 रुपए और गोदरेज प्रापर्टीज 7 प्रतिशत के नुकसान से 333 रुपए पर आ गया।

शुरूआती कारोबार में बंबई शेयर बाजार का सैंसेक्स 1,500 अंक से अधिक नीचे आ गया था। हालांकि बाद में यह कुछ सुधरकर अब 660 अंक की गिरावट के साथ 26,928.70 अंक पर कारोबार कर रहा था। कालेधन के खिलाफ अभियान के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल रात 500 और 1,000 के नोटाें को बंद करने की घोषणा की। इनके स्थान पर पूरी तरह नए डिजाइन के 500 और 2,000 के नोट जारी किए जाएंगे। विशेषज्ञों का मानना है कि 1,000 और 500 के नोट को बंद करने से असंगठित क्षेत्र के बिल्डर तथा प्रापर्टी बाजार बुरी तरह प्रभावित होगा। इससे मकानों के दाम नीचे आ सकते हैं।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You