S&P ने स्टेबल रखी भारत की रेटिंग, 2 साल तक अपग्रेड होने की उम्मीद नहीं

  • S&P ने स्टेबल रखी भारत की रेटिंग, 2 साल तक अपग्रेड होने की उम्मीद नहीं
You Are HereTop News
Wednesday, November 02, 2016-2:24 PM

नई दिल्लीः दिग्गज रेटिंग एजेंसी स्‍टैंडर्ड एंड पुअर्स (एसएंडपी) ने भारत का आउटलुक स्टेबल रखा है लेकिन रेटिंग बढ़ने की उम्मीद को झटका दिया है। एसएंडपी ने भारत की रेटिंग बीबीबी-/ए-3 पर बरकरार रखी है लेकिन एसएंडपी का कहना है कि अगले साल तक भारत की रेटिंग में बदलाव की उम्मीद नहीं है। रिफॉर्म लागू होने और वित्तीय स्थिति बेहतर होने पर ही भारत की रेटिंग बढ़ेगी।

एसएंडपी ने जी.डी.पी. ग्रोथ से निराशा होने पर भारत की रेटिंग घटने की आशंका जताई है। साथ ही एसएंडपी ने ये भी कहा कि एम.पी.सी. के लक्ष्य हासिल नहीं होने पर रेटिंग घटने का खतरा बढ़ सकता है। विदेशी निवेश में गिरावट से रेटिंग घटने का खतरा बढ़ सकता है। हालांकि एसएंडपी ने ये भी कहा है कि अगर सरकारी कर्ज जी.डी.पी. का 60 फीसदी से कम होने पर रेटिंग बढ़ सकती है।

एसएंडपी के मुताबिक 2019 तक सरकारी बैंकों में 4500 करोड़ डॉलर की पूंजी डालने की जरूरत होगी। 2016 में करेंट अकाऊंट घाटा 2015 के 2.1 फीसदी के मुकाबले घटकर 1.4 फीसदी रहने का अनुमान है। 2016 में 7.9 फीसदी जी.डी.पी. ग्रोथ का अनुमान है। एसएंडपी ने मार्च 2017 तक आर.बी.आई. के 5 फीसदी महंगाई दर का लक्ष्य हासिल करने का भरोसा जताया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You