8 बड़े शहरों में जनवरी-मार्च में मकानों की बिक्री घटी

  • 8 बड़े शहरों में जनवरी-मार्च में मकानों की बिक्री घटी
You Are HereBusiness
Thursday, April 20, 2017-11:16 AM

नई दिल्लीः एक अध्ययन बताता है कि जनवरी-मार्च के दौरान पिछली तिमाही की तुलना में 8 बड़े शहरों में मकानों की बिक्री आंशिक रूप से 1 फीसदी घटकर 28,131 रही और इस क्षेत्र में मांग नोटबंदी के प्रभाव से धीरे-धीरे उबर रही है। रियल एस्टेट की आंकड़े, शोध एवं विश्लेषण कम्पनी डाटा प्रॉपइक्विटी के अनुसार गुरुग्राम, नोएडा, मुम्बई, कोलकाता, हैदराबाद, बेंगलूर, पुणे और चेन्नई में अक्तूबर-दिसम्बर तिमाही के दौरान 28,472 मकानों की बिक्री हुई। 

रिपोर्ट के मुताबिक आपूर्ति के संदर्भ में वर्ष 2017 की पहली तिमाही में नए मकानों की शुरूआत पिछली तिमाही के 28,428 की तुलना में 19.46 फीसदी घटकर 22,897 रह गई। नहीं बिके मकानों की संख्या 4,87,043 से 3.12 फीसदी घटकर 4,71,855 रह गई। डिवैल्परों ने नए मकानों का निर्माण शुरू करने की बजाय तैयार मकानों की बिक्री पर ध्यान दिया। प्रॉपइक्विटी ने कहा कि आवासीय परियोजनाओं की मांग और नए लांच में गिरावट की रफ्तार पहली तिमाही में घट गई क्योंकि रियल एस्टेट में नोटबंदी का असर उम्मीदों से कहीं ज्यादा तेजी से कम हुआ है।

कोलकाता में नए आवासों की पेशकश में 54 प्रतिशत का इजाफा कोलकाता में जनवरी-मार्च, 2017 के दौरान नए मकानों की पेशकश इससे पिछली तिमाही के मुकाबले 53.9 प्रतिशत बढ़कर 3,801 इकाई पर पहुंच गई। रियल एस्टेट के आंकड़े, शोध और विश्लेषण कंपनी प्रॉपइक्विटी ने बयान में कहा कि डिवैल्पर्स आगामी तिमाहियों में ऊंची मांग की उम्मीद कर रहे हैं। हालांकि, पहली तिमाही में मकानों को लेने की रफ्तार कम हुई है। 

कमजोर मांग से मकानों की मांग 3.8 प्रतिशत घटी है। इसमें कहा गया है कि कोलकाता में बिना बिके मकानों का स्टॉक 0.5 प्रतिशत घटकर 44,487 इकाई पर आ गया। इस दौरान कीमतों में 1.5 प्रतिशत की गिरावट आई। प्रॉपइक्विटी ने कहा कि शीर्ष 8 शहरों में नए मकानों की पेशकश 19.46 प्रतिशत घटकर पहली तिमाही में 22,897 इकाई पर आ गई, जो इससे पिछली तिमाही में 28,428 इकाई थी।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You