अप्रैल तक ब्याज दरों में आधा प्रतिशत और कटौती की गुंजाइश: बोफा

  • अप्रैल तक ब्याज दरों में आधा प्रतिशत और कटौती की गुंजाइश: बोफा
You Are Herebanking
Monday, October 24, 2016-3:24 PM

नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा अगले कुछ महीने में नीतिगत दरों में 0.50 प्रतिशत और कटौती की गुंजाइश है। बैंक आफ अमरीका मेरिल लिंच (बोफा-एमएल) की रिपोर्ट में कहा गया है कि फरवरी और अप्रैल में केंद्रीय बैंक नीतिगत दरों में चौथाई-चौथाई प्रतिशत की कटौती कर सकता है लेकिन रिजर्व बैंक 7 दिसंबर की मौद्रिक समीक्षा में यथास्थिति कायम रखेगा। वैश्विक वित्तीय सेवा क्षेत्र की कंपनी ने कहा कि रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीति की बैठक के पिछले सप्ताह आए मिनट्स से केंद्रीय बैंक के आगामी महीनों में नरम रुख अपनाने का संकेत मिलता है।

नोट में कहा गया है कि रिजर्व बैंक अप्रैल में नीतिगत दरों में 0.25 प्रतिशत की कटौती कर सकता है। उससे पहले वह 7 फरवरी की मौद्रिक बैठक में भी ब्याज दरों में चौथाई फीसदी तक कटौती कर सकता है। नोट में ब्याज दरों में 0.50 प्रतिशत कटौती के लिए 5 कारण बताए जा रहे हैं। मुद्रास्फीति नीचे आने की संभावना है, 2017 की शुरूआत में आधा प्रतिशत की कटौती से बैंकों को यह संकेत जाएगा कि उन्हें अपना कर्ज सस्ता करना है, इससे रुपए को और मजबूती मिलेगी और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों का प्रवाह बढ़ेगा, दिवाला संहिता तथा जी.एस.टी. कानून से एमएसपी को यह भरोसा होगा कि सरकार सुधारों को आगे बढ़ाने को प्रतिबद्ध है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You