ज्यादा लागत आने की वजह से बंद होगी नैनो!

  • ज्यादा लागत आने की वजह से बंद होगी नैनो!
You Are HereAutomobile
Tuesday, November 15, 2016-4:02 PM

नई दिल्लीः टाटा मोटर्स ने नैनो को सात पहले जब लांच किया था तो इसके सफल होने की उम्मीद काफी थी। इसे आम लोगों की कार के तौर पर प्रचारित किया गया था। इसकी कीमत भी दुनिया में सबसे कम थी। इसके बेस मॉडल को सिर्फ 1 लाख  रूपए की कीमत में उतारा गया था।

कार में ज्यादा सुविधाएं नहीं थी लेकिन डिजाइन इस तरह से किया गया था कि आसानी से चार सदस्यों वाला परिवार इसमें सफर कर सकता था। इस कार की निर्माता कंपनी टाटा मोटर्स को इस ऑफर से भारत के कार मार्कीट में बढ़त भी मिली थी। लेकिन स्थिति शुरू से ही इसके खिलाफ जाने लगी। भले ही यह मामला टाटा संस के हटाए गए चेयरमैन सायरस मिस्त्री और टाटा ग्रुप के बीच विवाद के बाद उजागर हुआ है।

मिस्त्री ने कहा था कि नैनो के प्रॉडक्शन की लागत हमेशा 1 लाख रुपए से ज्यादा आ रही है और अगर टाटा मोटर्स फायदे में रहना चाहता है तो इस प्रॉजेक्ट को बंद कर देना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि टाटा मोटर्स नैनो प्रॉडक्शन को भावनात्मक कारणों से बंद नहीं कर रहा है। लेकिन टाटा मोटर्स ने बॉम्बे स्टॉक एक्स्चेंज को एक बयान जारी करके अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा कि नैनो को इसके सस्ते दाम के कारण वैश्विक स्तर पर पसंद किया गया था लेकिन इसके मैन्युफैक्चरिंग के स्थान में बदलाव के कारण इसके प्रॉडक्शन और सेल्स पर असर पड़ा।

सोमवार को हुई टाटा मोटर्स की बोर्ड मीटिंग में नैनो को लेकर कोई फैसला नहीं लिया गया। टाटा मोटर्स का पैसेंजर वीइकल बिजनस घाटे में जा रहा है और कंपनी को नई पीढ़ी की परियोजनाओं के लिए फंड्स की जरूरत है। इसलिए अप्रैल में जब कंपनी के 2020 प्रॉडक्ट प्लान की घोषणा की जाएगी तो बोर्ड और सीनियर मैनेजमेंट को चुनना होगा कि भविष्य के लिए किस पर बाजी लगाई जाए। जानकार लोगों का कहना है कि मीटिंग में नैनो को प्रायॉरिटी लिस्ट में सबसे नीचे रखा गया और ज्यादा ध्यान हेक्सा एसयूवी, काइट 5 सिडान और नेक्सन एसयूवी शामिल पर दिया गया।


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You