बीते सप्ताह चीनी कीमतों में रहा कमजोरी का रुख

  • बीते सप्ताह चीनी कीमतों में रहा कमजोरी का रुख
You Are HereBusiness
Sunday, September 10, 2017-11:17 AM

नई दिल्ली: सरकार द्वारा रियायती शुल्क दर पर तीन लाख टन कच्ची चीनी के आयात को अनुमति देने की पहल के बीच पर्याप्त स्टॉक के मुकाबले थोक उपभोक्ता उद्योगों और स्टॉकिस्टों की सुस्त मांग के कारण बीते सप्ताह राष्ट्रीय राजधानी, दिल्ली के थोक चीनी बाजार में कमजोरी का रुख दिखाई दिया और कीमतों में गिरावट आई। बाजार सूत्रों ने कहा कि थोक उपभोक्ता उद्योगों और स्टॉकिस्टों की मांग में गिरावट के अलावा चीनी मिलों की आर्पूित बढऩे के कारण पर्याप्त स्टॉक होने से मुख्यत: चीनी कीमतों में गिरावट आई।

अधिक उत्पादन होने की उम्मीद के कारण भी कीमतें प्रभावित हुईं। सरकार ने त्योहारों के सत्र से पहले चीनी की घरेलू आपूॢत को बढ़ाने के लिए गुरुवार को 25 प्रतिशत के रियायती शुल्क दर पर तीन लाख टन कच्ची चीनी का आयात करने को अनुमति प्रदान की है। सरकार ने चीनी की अंतरराष्ट्रीय कीमतों में गिरावट के कारण इस जिंस के भारत में डम्पिंग किए जाने पर रोक लगाने के लिए जुलाई के महीने में चीनी के आयात शुल्क को 40 प्रतिशत से बढ़ाकर 50 प्रतिशत कर दिया था। 
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You