इन खाताधारकों पर IT विभाग की नजर, कहीं आप तो नहीं इसमें शामिल

  • इन खाताधारकों पर IT विभाग की नजर, कहीं आप तो नहीं इसमें शामिल
You Are HereBusiness
Tuesday, July 25, 2017-11:19 AM

नई दिल्लीः नोटबंदी के बाद जिन 30000 आई.टी.आर. में बदलाव किया गया है, उसकी अब आयकर विभाग जांच करेगा। इसकी जानकारी सोंवार को केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सी.बी.डी.टी.) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने दिया। सुशील चंद्रा का कहना है कि नोटबंदी के बाद दायर आई.टी.आई. की तुलना जब पहले के रिकॉर्डस के साथ हुई तो ये मामले सामने आए। इन मामलों पर जल्द एक्शन लेने जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि 'ऑपरेशन क्लीन मनी' के पहले चरण के बाद यह पता चला है कि कुछ लोगों ने अपने बैंक खातों की जानकारी आयकर विभाग को नहीं दी है, लेकिन अब ऑपरेशन क्लीन मनी के तहत विभाग उन लोगों से संपर्क किया जा रहा है जिन्होंने नोटंबदी के बाद संदिग्ध रूप से नकदी जमा किया है। सुशील चंद्रा ने कहा कि भारत में एंट्री रेट टैक्स 5 प्रतिशत है, जो पूरी दुनिया में सबसे कम है। साथ ही चंद्रा ने बेनामी लेनदेन (निषेध) कानून पर बात करते हुए बताया कि 233 मामलों में 840 करोड़ रुपये मूल्य के अटैचमेंट किए जा चुके हैं। चंद्रा ने कहा कि कई शेल कंपनियों के बारे में भी पता चला है, जिनके पास बेनामी संपत्ति है। इनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You