नोटबंदी से उभरा ट्रांसपोर्ट सेक्टर, मालढ़ुलाई हुई महंगी

  • नोटबंदी से उभरा ट्रांसपोर्ट सेक्टर, मालढ़ुलाई हुई महंगी
You Are HereResults Company
Friday, January 06, 2017-7:47 PM

नई दिेल्लीः सड़क के रास्ते मालढ़ुलाई एक बार फिर महंगी होने वाली है। कैश की किल्लत कम होने के बाद नोटबंदी का असर घटने लगा है और ट्रक के किराए फिर से पुराने स्तर को छूने लगे हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार आने वाले दिनों में ट्रक किराए में बढ़ौतरी जारी रहेगी।

8 नवंबर को नोटबंदी के एेलान के बाद जो सेक्टर सबसे ज्यादा प्रभावित हुए थे, उनमें ट्रांसपोर्ट सेक्टर भी एक था। कैश की कमी और नए ऑर्डर में भारी गिरावट की वजह से ट्रांसपोर्टर्स का बिजनेस करीब 40 फीसदी तक गिर गया था। मजबूरन, उन्हें मालभाड़े में 25 फीसदी तक की कमी करनी पड़ी थी। वैसे तो नोटबंदी के बाद ट्रकों के किराए नीचे आ गए थे, लेकिन हालात में सुधार होते ही इनके बढ़ने की रफ्तार तेज हो गई है।

डीजल की कीमतों में बढ़ौतरी और टोल टैक्स में मिल रही छूट खत्म होने का असर भी ट्रकों के किराए पर दिखा है। दिसंबर को दिल्ली- मुंबई के राउंड ट्रिप का किराया 70,000 था जो 2 जनवरी को बढ़कर 82600 हो गया। इसी तरह, दिल्ली-कोलकाता का किराया 71000 से बढ़कर 83800 हो गया। जानकारों के मुताबिक पिछले दो महीने से गोदामों मे पड़े माल की ढ़ुलाई का भार भी अब ट्रकों को उठाना पड़ रहा है। लिहाजा अगले दो महीनों में ट्रक किरायों में बढ़ौतरी की रफ्तार बनी रहेगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You