गर्मी के साथ बढ़े सब्जियों के भाव

  • गर्मी के साथ बढ़े सब्जियों के भाव
You Are HereBusiness
Wednesday, April 19, 2017-12:58 PM

नई दिल्लीः गर्मी का असर बढ़ने से अप्रैल के बीच में सब्जियों के दाम बढ़े हैं। इससे अप्रैल में कंज्यूमर्स इन्फ्लेशन पर भी असर पड़ सकता है। होलसेल प्राइस इंडेक्स में 14 फीसदी का योगदान रखने वाले फूड आइटम्स की कीमतें मार्च में 3.12 फीसदी और सब्जियों की 5.70 फीसदी बढ़ी हैं। ट्रेडर्स का कहना है कि सब्जियों के दाम मॉनसून की शुरुआत के साथ ही नीचे आने की उम्मीद है।

पुणे में ऑल इंडिया वेजिटेबल ग्रोअर्स असोसिएशन के अध्यक्ष, श्रीराम गढ़वे ने बताया, 'गर्मी की लहर के कारण सब्जियों का उत्पादन घटा है। इससे कीमतों में तेजी आई है।' उन्होंने कहा कि इस वर्ष पानी की पर्याप्त उपलब्धता थी, लेकिन मौसम अनुकूल नहीं रहा। उन्होंने बताया, 'रोजाना दाम बढ़ रहे हैं। टमाटर अभी 8-10 रुपए प्रति किलोग्राम पर बिक रहा है और इस महीने के अंत तक इसका दाम 15-20 रुपए प्रति किलोग्राम हो सकता है।'

दिल्ली में भी भिंडी, करेला, तोरी जैसी राज्य के बाहर से आने वाली सब्जियों के दाम बढ़े हैं। आजादपुर मंडी के वेजिटेबल ट्रेडर, अशोक कुमार ने बताया, 'गर्मी बढ़ने के साथ दामों में वृद्धि होती है। गर्मी के चलते कुछ सब्जियों के दाम बढ़ सकते हैं क्योंकि फूल गिरने से उत्पादन में कमी होती है।'

हालांकि, आलू के दाम अप्रैल के अंत तक स्थिर बने रहने का अनुमान है क्योंकि इस वर्ष इसका अच्छा उत्पादन हुआ है। आजादपुर मंडी के राजेन्द्र शर्मा ने कहा, 'अप्रैल के अंत तक आलू के थोक दाम 3-5 रुपए प्रति किलोग्राम रहेंगे। प्याज के दाम पर 5-8 रुपए प्रति किलोग्राम पर स्थिर हैं क्योंकि राजस्थान, महाराष्ट्र और गुजरात से नई फसल आ रही है।'

उन्होंने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में यमुना के किनारे से सब्जियों की आवक इस महीने बढ़ने से दामों में कुछ कमी आ सकती है। उन्होंने बताया, 'पालक और लौकी के दाम होलसेल में 5-10 रुपए प्रति किलोग्राम तक रहेंगे, जबकि परवल, कटहल और खीरे के दाम 15-20 रुपए प्रति किलोग्राम हो सकते हैं।'

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You