वक्त आने पर दूंगा उचित जबाव : खेमका

  • वक्त आने पर दूंगा उचित जबाव : खेमका
You Are HereNational
Sunday, January 19, 2014-5:18 PM

चंडीगढ़: गोदामों की छत बदलने के टेंडर दिए जाने के कथित अनियमितताओं की लेकर सीबीआई से जांच कराने की हरियाणा सरकार की सिफारिश को लेकर राज्य के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अशोक खेमका ने कहा है कि वह वक्त आने पर इसका जबाव देंगे। खेमका ने बताया कि उन्हें अभी तक राज्य सरकार की ओर से उनके खिलाफ सीबीआई जांच कराने संबंधी कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई है लेकिन कोई दस्तावेज प्राप्त होने पर वह इसका उचित जबाव देंगे।

उल्लेखनीय है कि हरियाणा भंडारण निगम के 25 गोदामों की छत गैलवैल्यूक शीट से बदलने के लिए बिना बोर्ड की मंजूरी के निविदाएं आमंत्रित करने और एक ही कम्पनी को 12 करोड़ रूपए से ज्यादा के ठेके दिए जाने में गड़बड़ी की आशंका को लेकर एक आरटीआई कार्यकर्ता की शिकायत पर हरियाणा सरकार ने खेमका के खिलाफ सीबीआई जांच की सिफारिश की है। खेमका ये ठेके राज्य भंडारण निगम के प्रबंध निदेशक पद पर रहते हुए दिए थे।

उल्लेखनीय है कि खेमका जब चकबंदी विभाग के महानिदेशक थे तो उस समय उन्होंने डीएलएफ-राबर्ट वाड्रा भूमि डील का इंतकाल स्टाम्प ड्यूटी का कथित तौर पर कम भुगतान किए जाने के आधार पर रद्द कर दिया था। तभी से वह राज्य में कांग्रेस सरकार की आंखों में खटक रहे हैं। राबर्ट वाड्रा कांग्रेस अध्यक्ष और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी के दामाद हैं। खेमका के खिलाफ हरियाणा बीज निगम के प्रबंध निदेशक पद पर रहते हुए एक प्राइवेट एजेंसी से मूंग दाल बीज खरीदने को लेकर भी राज्य सतर्कता ब्यूरो की जांच चल रही है।

बीज निगम में ही गेहूँ बीज की कम बिक्री के मामले में भी राज्य सरकार ने उन्हें चार्जशीट करने की अनुमति दे दी है। ऐसे में आने वाले समय में खेमका की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं। वैसे खेमका की एक शिकायत पर सीबीआई ने भी राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत पांच करोड़ रूपए की सब्सिडी का गबन करने के मामले की जांच शुरू कर दी है। गौरतलब है कि खेमका का राज्य में विभिन्न पदों पर रहते हुए अभी तक रिकार्ड 44 बार तबादला हो चुका है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You