डेढ़ लाख रिश्वत देने के आरोप में मिनरल वाटर कंपनी का संचालक काबू

  • डेढ़ लाख रिश्वत देने के आरोप में मिनरल वाटर कंपनी का संचालक काबू
You Are HereChandigarh
Friday, October 13, 2017-8:38 AM

चंडीगढ़(संदीप) : एन.ओ.सी. जारी करने की एवज में मिनरल वॉटर की एक निजी कंपनी से डेढ़ लाख रुपए रिश्वत लेने के आरोप में पकड़े गए भूजल विभाग के साइंटिस्ट बी. संजय और इमटैक के टैक्निशियन चंद्र प्रकाश के अलावा रिश्वत के पैसे देने आए दिनेश कुमार की गिरफ्तारी के बाद सी.बी.आई. ने इस मामले में जांच के आधार पर मिनरल वॉटर कपनी के संचालक दिल्ली के रहने वाले स्वराज को गिरफ्तार कर जिला अदालत में पेश किया, जहां से उसे अदालत ने 1 दिन के रिमांड पर भेज दिया गया है। 

 

सी.बी.आई. वकील ने आरोपी के 3 दिन के रिमांड की मांग करते हुए दलील दी थी कि आरोपी ने ही रिश्वत की रकम भिजवाई थी। उससे पूछताछ करनी है कि इस मामले में कितने और लोग शामिल हैं। साथ ही उसकी अन्य आरोपियों से भी आमने-सामने बैठाकर बात करवानी है। 

 

बचाव पक्ष ने दी दलील- स्वराज का मामले से कोई सरोकार नहीं : 
बचाव पक्ष ने दलील दी कि स्वराज का इस रिश्वत मामले से कोई सरोकार नहीं है। उन्होंने एन.ओ.सी. के लिए एक निजी कंसल्टैंसी कंपनी हायर की थी। कंपनी को उन्होंने इसके लिए चेक से पैमेंट की थी। अब कंपनी यह काम कैसे करवाती है या किसी को रिश्वत देकर करवा रही है तो इसके बारे में कंपनी के डायरैक्टर को कोई जानकारी नहीं है। उनसे तो इस काम की फीस ली गई थी। इसके अलावा उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं है। अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद आरोपी को एक दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You