सरकारी विभाग फ्री में नहीं पी सकेंगे पानी, चुकाना होगा बिल

  • सरकारी विभाग फ्री में नहीं पी सकेंगे पानी, चुकाना होगा बिल
You Are HereChandigarh
Wednesday, September 13, 2017-1:29 PM

रायपुररानी(संजय पारवाला) : सरकारी विभागों और आम जनता के अब फ्री में पीने का पानी डकराने के दिन लद चुके हैं। अब पब्लिक हैल्थ विभाग एक ओर जहां पीने के पानी के कनैक्शन काटने में जुटा है, वहीं विभाग लोगों के मौके पर ही नए कनैक्शन करने में लगा है। 

 

अब तो सरकारी विभागों में लगे पानी के कनैक्शन का बिल रीडिंग के हिसाब से भुगतान करना होगा। पब्लिक हैल्थ विभाग ने फ्री का पानी डकारने वाले परिवारों पर शिकंजा कसना तो शुरू कर दिया, लेकिन स्टॉफ की कमी और योजना को सही से लागू नहीं करने के चलते इस योजना को पूरा होने में काफी वक्त लगेगा। 

 

हालांकि अभी तो विभाग ने एक जे.ई. को महीने में 25 कनैक्शन करने की जिम्मेदारी सौंपी है। अब सवाल यह उठता है कि 110 के करीब गांवों में पीने के पानी के कनैक्शन जांचने में कितना वक्त लगेगा और पहले ही इस योजना को अमलीजामा पहनाने में देरी हो रही है। विभाग की ओर से लोगों के घरों में जाकर यदि पहले से कनैक्शन हुआ है तो उसकी रसीद जांचने की मांग कर रहा है और ऐसे में यदि किसी के पास यह रसीद नही है तो उसका कनैक्शन कर रहा है। विभाग यह भी राहत दे रहा है कि यदि रसीद पुरानी है तो भी चलेगा, क्योंकि अब ऑनलाइन सिस्टम हो गया है। 

 

पब्लिक हैल्थ की जारी अधिसूचना के अनुसार अब बिना मीटर के घरेलू उपभोक्ताओं को 40 रुपए प्रति माह बिल देना होगा। यह बिल छह-छह महीने का आएगा। इसके अलावा अनूसूचित जाति के परिवारों को 20 रुपए प्रति महीना देना होगा। 

 

औद्योगिक, व्यावसायिक जलापूर्ति (मीटर द्वारा कनैक्शन) 10 रुपए प्रति किलो लीटर के हिसाब से बिल देना होगा। इसके साथ ही कनैक्शन फीस (एक ही बार, गैर-वापसी) नया घरेलू कनैक्शन लेने के लिए 500 रुपए प्रति कनैक्शन, संस्थानों, औद्योगिक व्यावसायिक उपभोक्ताओं के लिए नया कनैक्शन लेने के लिए 2000 रुपए प्रति कनैक्शन देना होगा। पीने के पानी का महीने का बिल कम होने के कारण 6 महीने का एक साथ बिल आएगा। 

 

जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा सरकारी कार्यालयों पर मीटर लगा दिए गए हैं और अब वे जितना भी पानी इस्तेमाल करेंगें, उसका प्रति किलो लीटर के हिसाब से बिल चुकाना होगा। पहले कभी सरकारी कार्यालयों की ओर से फ्री में पानी का इस्तेमाल हो रहा था। ऐसे में अब मीटर लग गए हैैं तो बिल भी चुकाना पड़ेगा। अब देखना होगा कि विभाग के बिल कब आएंगेे। यह भी साफ है कि बिल भरने उन्हें कहीं नहीं जाना पड़ेगा। विभाग के लोगों घर पर दस्तक देंगे और ऑनलाइन पर्ची काटी जाएगी। 

 

सरकारी स्कूलों को भी नए कनैक्शन लेने के लिए नोटिस होगा जारी :
जल्द ही जनस्वास्थ्य विभाग सरकारी स्कूलों को भी नोटिस करने जा रहा है। इसके बाद सरकारी स्कूलों के पर बिल की समस्या भी गले में पडऩे जा रही है। ज्यादात्तर स्कूल बिजली का बिल नहीं भर रहे हैं और उन पर लगातार कनैक्शन कटने की तलवार लटकी रहती है, अब उन पर पानी के बिल का भी बार पडऩे वाला है।  

 

सूत्रों के अनुसार पब्लिक हैल्थ विभाग से जो लैटर जारी हुआ है, उसके बाद सभी सरकारी स्कूलों को नोटिस जारी होगा और उन्हें भी नया कनैक्शन दिया जाएगा। ऐसे में जल्द ही स्कूलों में पीने के पानी का नया कनैक्शन लेने का नोटिस भी स्कूलों में पहुंचेगा। यह तय नहीं है कि विभाग रीडिंग के हिसाब से बिल भुगतान करवाएगा या फिर घरेलू कनैक्शन के हिसाब से।  

 

नहीं चलेगा कोई बहाना :
एस.डी.ओ. विकास लाठर ने कहा कि पब्लिक हैल्थ रायपुरानी की ओर से सरकारी कार्यालयों और अन्य कमर्शियल स्थानों पर मीटर वाले कनैक्शन लगा दिए गए हैं। अब जो भी पीने का पानी आएगा, उसके बिल का भुगतान करना होगा। पहले ऐसा नहीं होता था, लेकिन अब विभाग की सख्त हिदायतें हैं जिसका पालन किया जा रहा है। इसके साथ ही स्कूलों में भी पीने के पानी के कनैक्शन रजिस्टर्ड किए जाएंगे और स्कूलों का भी पानी का बिल आएगा। किसी का भी अब कोई बहाना नहीं चलेगा। यदि किसी विभाग के पास कनैक्शन ली हुई रसीद है, वो मान्य होगी। नहीं तो मौके पर ही उसका कनैक्शन होगा। एक जे.ई. को 25 महीने में कनैक्शन की जिम्मेदारी सौंपी गई है।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You